Monthly Archives: March 2017

जानिए, दलितों तक पहुंच बनाने के लिए क्या है सरकार की नई पहल

नई दिल्लीः मोदी सरकार ने बाबा साहब भीम राव अंबेडकर, ज्योति बा फुले, संत रविदास, कबीरदास जैसे महापुरूषों पर आधारित कार्यक्रमों के जरिये दलितों सहित समाज के कमजोर वर्गो तक पहुंच बनाने की पहल करते हुए ऐसे महापुरूषों से जुड़े कार्यक्रमों के आयोजन करने वाली संस्थाओं को आर्थिक मदद देने का निर्णय किया गया है.

दलितों, गरीबों और दबे-कुचलों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है सरकार: PM मोदी

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावर चंद गहलोत ने मीडिया से कहा कि हमारी सरकार ने महापुरूषों की जयंती मनाने, महापरिनिर्वाण दिवस या कोई अन्य दिवस या कार्यक्रम के लिए, उन महापुरूषों की सोच एवं विचार को प्रचारित करने के लिए आर्थिक मदद देने का निर्णय किया है.

मोदी कैबिनेट में दलित चेहरों पर विशेष कृपा होने की संभावना

उन्होंने कहा कि अगर कोई संस्थान बाबा साहब भीम राव अंबेडकर, ज्योति बा फुले, रविदास, कबीरदास, गुरू घासी राम समेत ऐसे महापुरूषों, जिन्होंने समाज के कमजोर वर्गो एवं पिछड़ों के कल्याण के लिए काम किया हो, उनकी जयंती या पुण्यतिथि मनाता है, तो सरकार उन संस्थाओं को आर्थिक मदद देगी. 

//–>

गहलोत ने कहा कि पहले ऐसा कोई प्रावधान नहीं था. हमारी सरकार ने यह निर्णय लिया है. कोई एनजीओ, सामाजिक संगठन या पंजीकृत संगठन ऐसे महापुरूषों की जयंती, पुण्यतिथि या उनसे जुड़े कार्यक्रमों का आयोजन करती है तो हम उन्हें पांच लाख रूपये की आर्थिक सहायता देते हैं.

पीएम मोदी ने लॉन्च किया गरीबों, दलितों और समाज के वंचित लोगों के लिए ‘आर-अर्बन मिशन’

सरकार ने बाबा साहब भीम राव अंबेडकर की 125वीं जयंती वर्ष मनाने का निर्णय किया है. इसके अलावा अंबेडकर से जुड़े स्थलों को पंचतीर्थ घोषित किया है. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने हमसे कहा है कि जहां भी अंबेडकर से संबंधित स्थान हैं, उनको हम तीर्थ के रूप में घोषित करें, हमने ऐसा किया है.

मंत्रालय ने तय किया है कि अंबेडकर की जन्मस्थली इंदौर जिले में महू को तीर्थ के रूप में विकसित किया जायेगा और इस दिशा में महू का नाम अंबेडकर नगर कर दिया गया है.इसके अलावा जहां अंबेडकर जी ने पढ़ाई की, उन स्थानों पर विश्वविद्यालय के 100 छात्रों को भेजा गया. भारत सरकार के खर्च पर भेजा गया. 

दलित मामलों पर बोले पीएम मोदी- सामाजिक बुराइयों से कठोरता से निपटे जाने की जरूरत

मंत्रालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार, बाबा साहब की जन्मस्थली को तीर्थ घोषित किया गया. उनकी शिक्षा स्थली ‘लंदन’ में जहां उन्होंने अध्ययन किया, उस स्थल को राष्ट्रीय स्मारक घोषित किया. इसके अलावा, अंबेडकर ने नागपुर में जहां दीक्षा ली, उसे दीक्षा स्थली घोषित की गई और महाराष्ट्र सरकार ने 300 करोड़ रूपये की राशि से उसका विस्तार करने की पहल की है. सामाजिक न्याय अधिकारिता मंत्रालय ने इस संबंध में 9 करोड़ रूपये का योगदान दिया है.

अगर गोली चलानी है तो मुझ पर चलाइए, मेरे दलित भाइयों पर नहीं : PM मोदी

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार, बाबा साहब का निधन अलीपुर रोड में हुआ था और उस स्थल को राष्ट्रीय स्मारक घोषित किया गया है और 100 करोड़ रूपये की लागत से भव्य स्मारक बनाया जा रहा है. बाबा साहब का अंतिम संस्कार जहां हुआ था, उसे चैत्य भूभि घोषित किया गया है. महाराष्ट्र सरकार ने इंदु मिल की जमीन का अधिग्रहण किया है और 300 करोड़ रूपये की लागत से इसका विकास किया जायेगा.  

पीएम मोदी ने कहा-जारी रहेगी आरक्षण व्यवस्था

अबंडकर की सोच और विचार के अध्ययन और उस पर शोध के लिए एक अंतरराष्ट्रीय संस्थान का निर्माण किया जा रहा है. अंबेडकर अंतरराष्ट्रीय अध्ययन केंद्र का निर्माण 192 करोड़ रूपये की लागत से किया जा रहा है और यह अगले साल 14 अप्रैल तक शुरू हो जायेगा .

Hindi News

आप में बड़ी बगावत, विधायक बदल सकते हैं पाला

Delhi Hindi News: आम आदमी पार्टी की पंजाब और गोवा चुनावों में हार के बाद एमसीडी चुनाव से ठीक पहले आम आदमी पार्टी में भयंकर अंदरूनी लड़ाई छिड़ी हुई है। बहुतो का मानना है कि इस लड़ाई की वजह से पार्टी में विभाजन हो सकता है। बवाना से पार्टी के विधायक रहे वेदप्रकाश के बीजेपी में शामिल होने के बाद माना जा रहा है कि आप के 4 और विधायकों की कांग्रेस पार्टी के साथ बातचीत चल रही है।

सूत्रों के अनुसार आप के 30 अन्य विधायक पाला बदल सकते हैं। आप के कम से कम 4 विधायकों ने हाल में कांग्रेस के सीनियर नेताओं के साथ बैठक की है। खबर है कि इन विधायकों ने 31 अन्य विधायकों के समर्थन का भी आश्वासन दिया है।

हालांकि, सीलमपुर के विधायक इशराक अहमद खान ने माना कि उन्होंने कांग्रेस के कुछ नेताओं से मुलाकात की थी। उनका कहना था कि इसकी वजह निजी थी। उन्होंने बताया, ‘मैं अभी आप के साथ हूं और किसी अन्य पार्टी में शामिल नहीं हो रहा हूं।’

तिमारपुर के विधायक पुष्कर खुलेआम योगेंद्र यादव की पार्टी स्वराज अभियान के लिए प्रचार कर रहे हैं। स्वराज अभियान एमसीडी चुनाव लड़ रही है। ज्ञात हो सहरावत का पार्टी चीफ अरविंद केजरीवाल से टकराव चल रहा है। संदीप कुमार दिल्ली में सामाजिक कल्याण मंत्री थे और उनके खिलाफ सेक्स टेप का मामला सामने आने के बाद उन्हें मंत्री पद से हटा दिया गया था।

Hindi News

मोदी सरकार की बड़ी कार्रवाई, Block की 3000 साइटें

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने पोर्न साइटों पर बड़ी कार्रवाई की है. केंद्र सरकार ने बच्चों के पोर्न वीडियो चलाने वाली वेबसाइटों के खिलाफ कार्यवाई करते हुए करीब 3000 पोर्न साइटों को ब्लॉक कर दिया है.

इस बारे में लोकसभा में जानकारी देते हुए केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने बताया कि बच्चों के पोर्न वीडियो दिखाने वाली ज्यादातर वेबसाइट भारत के बाहर से चलाई जा रही हैं.

सरकार ने अश्लील सामग्री परोसने वाली 3000 साइट्स को ब्लॉक कर दिया है. इस बात की जानकारी बुधवार को लोकसभा में केंद्रीय सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने दी। पोर्न साइटों को लेकर लिखित जवाब में मंत्रालय ने कहा है कि बच्चों के पोर्न वीडियो दिखाने वाली ज्यादातर वेबसाइट भारत के बाहर से चलाई जा रही थी.

सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने बताया कि गृह मंत्रालय महिला और बच्चों के खिलाफ साइबर क्राइम रोकथाम पर एक प्रोजेक्ट शुरु करने जा रही है.

बच्चों के पोर्न वीडियो चलाने वाली ज्यादातर वेबसाइट्स भारत के बाहर से चलाई जा रही है

//–>

सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय  ने अपने जवाब में कहा कि साइबर वर्ल्ड बेहद गोपनीय और दुनिया भर में फैला है. इसमें कहा है, ‘बच्चों के पोर्न वीडियो चलाने वाली ज्यादातर वेबसाइट्स भारत के बाहर से चलाई जा रही है. इंटरपोल ऐसे गंभीर बाल यौन अपराधियों की लिस्ट रखता और उसे अपडेट करता है. इंटरपोल से मिली इस लिस्ट के आधार पर सरकार समय-समय पर ये साइट्स ब्लॉक करती रहती है.’

मंत्रालय ने कहा कि इंटरपोल ऐसे गंभीर बाल यौन अपराधियों की लिस्ट रखता है और उसे अपडेट करता रहता है। इंटरपोल से मिली ऐसी गंभीर लिस्ट के आधार पर सरकार ऐसे साइटों को समय-समय पर ब्लॉक करती रहती हैं.

 

Hindi News

Zee जानकारी: बिजली भरपूर फिर भी जनता से दूर क्यों?

भारत को एक कृषि प्रधान देश माना जाता है और भारत दुनिया के उन देशों में शामिल है जो सबसे ज्यादा अन्न उगाते हैं. भारत अन्न और दूसरे Food Prouducts को Export भी करता है. यानी भारत अपने साथ साथ दूसरे देशों का पेट भी भरता है. ऐसा इसलिए हो पाता है क्योंकि भारत को जितने अन्न की ज़रूरत है. उससे ज्यादा अन्न भारत में उगाया जाता है. लेकिन अगर मैं आपसे कहूं कि अब भारत एक ऐसा देश बन चुका है. जिसके पास ज़रूरत से ज्यादा बिजली है. और अब भारत पहली बार बिजली का Net Exporter बन गया है. तो आपको शायद यकीन नहीं होगा.

हम जानते हैं कि गर्मियां आ चुकी हैं और बिजली की कमी आपकी सबसे बड़ी चिंताओं में से एक है. ऐसे में ये सुनकर आपको यकीन नहीं हो रहा होगा कि भारत में बिजली की कोई कमी नहीं है और भारत दूसरे देशों को बिजली निर्यात करने लगा है. लेकिन इतिहास में पहली बार में भारत बिजली का निर्यात करने की स्थिति में आ गया है. अब भारत नई Transmission Lines की मदद से नेपाल, बांग्लादेश और म्यांमार को बिजली बेच रहा है. आपको बता दें कि 1980 के दशक से भारत भूटान से बिजली खरीदता आ रहा है. लेकिन पहली बार दूसरे देशों को बेची गई बिजली की मात्रा. भूटान से खरीदी गई बिजली की मात्रा से 4 प्रतिशत ज्यादा है. 

इतना ही नहीं वर्ष 2016 औऱ 2017 में भारत Power Surplus Nation भी बन चुका है. यानी भारत अब एक ऐसा देश है. जिसके पास ज़रूरत से ज्यादा बिजली है. लेकिन इस खबर का दुखद पहलू ये है कि भारत के आम लोगों को अब भी भरपूर बिजली नहीं मिल पा रही है. भारत में प्रति व्यक्ति बिजली की खपत सिर्फ 1075 किलोवाट है. जबकि चीन में प्रति व्यक्ति बिजली की खपत 4 हज़ार किलोवाट और विकसित देशों में 15 हज़ार किलोवाट है. बिजली मंत्रालय के मुताबिक भारत के पास इस वक्त कुल 315 गीगावाट बिजली उत्पादन की क्षमता है जबकि फरवरी महीने तक के आंकड़ों के मुताबिक भारत में बिजली की Peak Demand  सिर्फ 159 गीगावाट थी. फिर भी भारत के ग्रामीण इलाकों में करीब 26 प्रतिशत परिवारों को अब भी बिजली नहीं मिल पाई हैं.

अब आप सोच रहे होंगे कि अगर भारत में बिजली की कोई कमी नहीं तो फिर देश के ज्यादातर शहरों और गांवों को पर्याप्त मात्रा में बिजली क्यों नहीं मिल पाती है. तो हम आपको बता दें कि इसकी सबसे बड़ी वजह है Transmission Loss. भारत में करीब 23 प्रतिशत बिजली वितरण के दौरान ही बर्बाद हो जाती है. यानी 23 प्रतिशत बिजली कभी अपनी मंज़िल तक पहुंच ही नहीं पाती है. भारत के आधे से ज्यादा राज्यों में तो Transmission और Distribution के दौरान होना वाला Loss 30 प्रतिशत से भी ज्यादा है. जबकि कुछ राज्यों में तो 50 प्रतिशत बिजली Transmission के दौरान बर्बाद हो जाती है.

आपको जानकर हैरानी होगी कि ज्यादातर विकसित देशों में वितरण के दौरान सिर्फ 10 प्रतिशत बिजली ही बर्बाद होती है. इजरायल में तो Transmission And Distribution Loss सिर्फ 3 प्रतिशत है. अगर भारत में Transmission Loss सिर्फ 5 प्रतिशत भी कम हो जाए. तो बिना 1 रुपया खर्च किए भारत के पास 15 हज़ार मेगावाट अतिरिक्त बिजली आ जाएगी. और इससे 75 हज़ार करोड़ रुपये से लेकर 1 लाख करोड़ रुपये तक की बचत भी होगी. भारत में बिजली की कमी की एक बड़ी वजह बिजली चोरी भी है. 2015 में आई एक रिपोर्ट के मुताबिक बिजली चोरी से पूरी दुनिया में हर वर्ष 5 लाख 84 हज़ार करोड़ रुपये का नुकसान होता है. इसमें सबसे ज्यादा नुकसान भारत को उठाना पड़ता है. भारत को बिजली चोरी की वजह से हर वर्ष 1 लाख 3 हज़ार करोड़ रुपये का नुकसान होता है.

//–>

कुल मिलाकर भारत के पास इतनी बिजली है कि भारत दुनिया के कई देशों को Power BackUp दे सकता है. लेकिन अफसोस इस बात का है कि भारत के ज़्यादातर गांवों और शहरों में 24 घंटे बिजली आना आज भी एक दुर्लभ घटना मानी जाती है. भारत सरकार आम लोगों से अपील करती है. कि लोग बिजली बचाएं. क्योंकि जितनी बिजली बचाई जाएगी. उतनी ही बिजली और उपलब्ध होगी. लेकिन सच ये है कि आम लोगों के साथ साथ सिस्टम को भी खुद में सुधार करना होगा. क्योंकि करप्शन लापरवाही और अफसरशाही वाला Short Circuit अक्सर सुपर पावर बनने के सपने में Power cut लगा देता है.

भारत के जिन राज्यों में बिजली की भयंकर कमी है. वहां कि सरकारें भी इसके लिए जिम्मेदार है. बहुत सारे राज्यों की सरकारें बिजली खरीदना ही नहीं चाहती हैं. दरअसल भारत की ज्यादातर Power corporations घाटे में चल रही है. और अगर ये सरकारी कंपनियां बाहर से बिजली खरीदेंगी. तो इन्हें ज़्यादा पैसे खर्च करने पड़ेंगे. Transmission के दौरान होने वाला नुकसान और बिजली चोरी की वजह से इन कंपनियों का घाटा और बढ़ जाएगा. बिजली कंपनियां प्रति यूनिट बिजली का दाम एक तय सीमा तक ही बढ़ा सकती है. इसलिए बिजली के दाम बढ़ाने पर भी घाटे की भरपाई नहीं हो पाएगी. बिजली कंपनियों को हो रहे नुकसान की सबसे बड़ी वजह है भ्रष्टाचार.
 
भारत को बिजली चोरी की वजह से हर वर्ष 1 लाख 3 हज़ार करोड़ रुपये का नुकसान होता है. ये सिर्फ इसलिए होता है क्योंकि लोग बिजली की चोरी करते हैं. सवाल ये है कि क्या हमारा देश चोरी करने वाले लोगों का देश बनता जा रहा है. आखिर लोग अपने हिस्से की ईमानदारी क्यों नहीं बरतते? यहां हम आपको एक जानकारी और देना चाहते हैं अगर आप भारत के किसी ग्रामीण इलाके में रहते हैं. या आपका परिवार वहां रहता है. और आप जानना चाहते हैं कि आपके गांव तक बिजली पहुंची है या नहीं. तो आप garv.gov.in नामक वेबसाइट पर जा सकते हैं. यहां अपने ज़िले और गांव का नाम डालने पर आपको इस बात की जानकारी मिल जाएगी कि आपके गांव का विद्युतीकरण हुआ है या नहीं और अगर हुआ है तो कितने घरों को बिजली मिल पा रही है.

कुल मिलाकर स्थिति गंभीर है और बिजली का संकट दूर करने के लिए तेज़ गति से कुछ ऐतिहासिक फैसले लेने की ज़रूरत है. ताकि देश के आम नागरिक को 24 घंटे बिजली की आपूर्ति का पूर्ण स्वराज मिल सके. हमने ये विश्लेषण इसलिए किया ताकि आप देश के बिजली संकट की बारीकियों को समझ सकें. आगे भी हम इस मुद्दे पर Follow Up और ज़रूरी विश्लेषण करते रहेंगे.

Hindi News

तो क्या UP में लगेगा शराब पर बैन?

News in Hindi: मुख्यमंत्री आवास में गृह प्रवेश के बाद मुख्यमंत्री योगी और योगगुरु बाबा रामदेव लखनऊ में आयोजित एक योग समारोह में हिस्सा लेने पहुंचे। इस मौके पर बाबा रामदेव ने मुख्यमंत्री योगी के काम की जमकर तारीफ की। बाबा रामदेव ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी के साथ मिलकर यूपी को आगे ले जाएंगे। बाबा रामदेव ने जहां योगी सरकार के अवैध बूचड़खाने पर तालेबंदी के फैसले का स्वागत किया वही उन्होंने कहा कि अब राज्य में शराब की बारी है। उन्होंने कहा कि कपालभाटी और अनुलोम-विलोम शुरू करो, क्योंकि अब यहां शराब तो नहीं मिलेगा।

रामदेव ने कहा कि अब अगली बारी यूपी में शराब की बारी है। कपालभाटी, अनुलोम-विलोम शुरू करो, क्योंकि अब यहां शराब तो नहीं मिलेगा। एक सप्ताह का काम उठाकर देख लीजिये, सोशल मीडिया टीवी अख़बार सब उठाकर देख लीजिये पता चल जायेगा। जो पहले ही पिंडदान कर चूका हो उस योगी का क्या कोई बिगाड़ सकता है। उसे कुछ चाहिए क्या होता है ?

उन्होंने कहा कि ये पहली बार हो रहा है की यूपी का CM ज़मीन पर सो रहा है। यूपी में अच्छे दिन वाने वाले हैं। जिस देश का राजा फकीर होता है वहां की जनता धनवान होती है। यूपी कृष्ण-राम-शिव की भूमि है। एक योगी में हजारों लाखों व्यक्ति की शक्ति होती है और वो आपके सामने मूर्त रुप में है. ये योगी ना केवल यूपी के लिए उपयोगी है बल्कि देश के लिए, संसार के लिये भी उपयोगी है

Hindi News

अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग को मिलेगा संवैधानिक दर्जा, केंद्र सरकार लाएगी विधेयक

अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग को मिलेगा संवैधानिक दर्जा, केंद्र सरकार लाएगी विधेयक

कांग्रेस ने इस मुद्दे को उठाते हुए कहा कि सरकार जानबूझ कर अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक आयोग में रिक्तियों को भरे जाने में देरी कर रही है. (फाइल फोटो)

Hindi News

सहयोगियों संग सीएम योगी लेंगे फलाहार

UP Hindi News: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बुधवार को नवरात्र के अवसर पर 5 कालीदास मार्ग स्थित मुख्यमंत्री आवास में प्रवेश करेंगे। जहां योगी आदित्यनाथ 9 दिन नवरात्र के व्रत रहेंगे वहीं पहले दिन वे मुख्यमंत्री आवास में पार्टी पदाधिकारियों और सहयोगियों के साथ फलाहार लेंगे। यह कार्यक्रम तय समय के अनुसार शाम साढ़े पांच बजे नवरात्र पूजन के बाद किया जाएगा। इससे पहले शाम तीन बजे मुख्यमंत्री योगी लखनऊ में होने वाले योग महोत्सव में शामिल होंगे। योगी आदित्यनाथ पूरे 9 दिनों तक सिर्फ फलाहार ही लेंगे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चैत्र नवरात्र से अधिक शारदीय नवरात्र में तप करते है। शारदीय नवरात्र को वे नाथ परंपरा के अनुसार मनाते हैं। योगी आदित्यनाथ के करीबी कहते हैं, शारदीय नवरात्र के दिनों में वे अपने कमरे में ही रहते हैं। पूरे विधान के साथ मां आदिशक्ति की पूजा-अर्चना करते हैं। अष्टमी को ही वे अपने कक्ष से बाहर निकलते हैं। वे इस दौरान नाथ संप्रदाय के अनुसार पूजन-पाठ करते हैं, इसलिए अपने गुरु जैसी एक टोपी पहने रहते हैं। अष्टमी को कन्या पूजन करते है। इसके बाद दक्षिणा देकर हवन करते हैं।

Hindi News

31 मार्च तक निबटा लें ये सारे काम, कहीं हो न जाए देरी

नई दिल्लीः आने वाली 1 अप्रैल से देश में कई नियम बदल जाएंगे, इसलिए आपके पास कई कामों को पूरा करने की समय-सीमा 31 मार्च तक की है. इसलिए, यह सुनिश्चित कर लें कि आप अपने सभी जरूरी काम 31 मार्च तक हर हाल में निपटा लें. इसमें लापरवाही आपको महंगी पड़ सकती है.

1 अप्रैल से बदल जाएंगे इनकम टैक्स से जुड़े ये 10 नियम

क्योंकि 31 मार्च के बाद कुछ मौके तो ऐसे हैं कि जिनमें देरी करने पर आपको नुकसान हो सकता है क्योंकि इन कामों के लिए आपको दोबारा मौका नहीं मिलेगा. तो इसलिए जान लें कि कौन-कौन से जरूरी काम हैं जो आपको 31 मार्च से पहले निपटाने हैं…

सोना बेचने में देरी पड़ सकती है महंगी
1 अप्रैल से सरकार ने सोना बेचने पर कैश प्राप्त करने की सीमा 20 हजार रुपये से घटाकर 10 हजार रुपये कर दी है. तो अगर आप सोना बेचकर कीमत नकद में पाना चाहते हैं तो यह काम 31 मार्च तक निपटा लें क्योंकि 1 अप्रैल से आपको 10 हजार रुपये से ज्यादा नकदी नहीं मिलेगी.

1 अप्रैल के बाद 10,000 रुपये से ज्यादा रुपये विक्रेता को ग्राहक के खाते में डालना होगा. यानी, अब एक आदमी एक दिन में सोना बेचकर 10 हजार रुपये से ज्यादा नकद नहीं पा सकता. अगर आभूषण व्यापारी ने 10 हजार रुपये से ज्यादा मूल्य के गोल्ड के लिए अलग-अलग इनवॉइस बनाए तो वह टैक्स अधिकारियों की निगाह में आ जाएगा. 

//–>

1 अप्रैल से बदल जाएंगे आपके जीवन पर असर डालने वाले ये नियम

अघोषित आय घोषित करने का अंतिम मौका
यदि आपने अपनी आय घोषित नहीं की है तो आयकर विभाग ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत आपको 31 मार्च तक अपनी अघोषित आय को घोषित करने का अंतिम मौका दिया है. इसके तहत अघोषित आय पर कोई जुर्माना नहीं लगेगा. जबकि एक अप्रैल के बाद आयकर विभाग आपकी अघोषित आय पर 137% तक जुर्माना लगाएगा. इसलिए बेहतर है कि आप समय सीमा के भीतर इसे जमा कर दें.

1 अप्रैल से वाहनों के बीमा में देरी पड़ेगी महंगी
अगर आप टू व्हीलर या फोर व्हीलर रखते हैं तो 31 मार्च से पहले अपने वाहनों के इंशोरेंस रिन्यू करवा लें. यदि आपने इंश्योरेंस नहीं कराया है तो 31 मार्च से पहले करवा लें वरना 1 अप्रैल से इंश्योरेंस कराने पर जेब ज्यादा ढीली करनी होगी. दरअसल, पहली अप्रैल से मोटरसाइकिल, कार आदि वाहनों के बीमा महंगा होने जा रहे हैं. अनुमान है कि इनके दामों में 50 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हो सकती है.

एक अप्रैल से महंगी हो जाएंगे ये चीजें…

इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करना न भूलें
2015-16 वित्त वर्ष के लिए इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने की 31 मार्च 2017 आखिरी तारीख है. सबसे पहला काम बिना देर किए रिटर्न फाइल करने का करें. उसके बाद आयकर विभाग आपके रिटर्न को फाइल करने से इनकार कर सकता है. अगर आप 2015-16 का टैक्स रिटर्न 31 मार्च से पहले फाइल करने में चूक जाते हैं तो आप पर 5000 रुपए की पेनल्टी भी लगाई जा सकती है. 

KYC के रूप में बैंक में कराएं आधार-पेनकार्ड
आपको 31 मार्च तक केवाईसी के रूप में आधार कार्ड एवं पैन कार्ड जमा करना होगा. जिनके पास पैनकार्ड नहीं है, वह बैंक शाखा से फॉर्म 60 लेकर उसे जमा कर सकते हैं. पासपोर्ट साइज की अपनी हालिया तस्वरी भी बैंक दें. इससे अकाउंट से ट्रांजैक्शन में बाधा आने की आशंका खत्म हो जाएगी.

बढ़ सकती है रिलायंस JIO प्राइम मेंबरशिप के लिए रजिस्ट्रेशन की डेट

इंटरनेट डेटा के लिए प्लानिंग 
रिलायंस जियो, एयरटेल, वोडाफोन, आइडिया आदि का अनलिमिटेड फ्री डेटा और कॉलिंग वाला ऑफर 31 मार्च को समाप्त हो रहा है. इसलिए, जरूरी है कि अब फैसला कर लें कि आपको किस कंपनी का ऑफर लेना है. किस कंपनी ने क्या ऑफर दिए हैं.

Hindi News

लालू के लाल चले RSS की बराबरी करने

Bihar Hindi News: बिहार के स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तर्ज पर धर्मनिरपेक्ष सेवक संघ का गठन किया है। लालू यादव के बेटे तेजप्रताप ने मंगलवार को नए संगठन की घोषणा करते हुए कहा कि डीएसएस को राष्ट्रीय स्तर पर फैलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि डीएसएस में हिंदू, मुस्लिम, सिख, इसाई सभी धर्मों के लोग शामिल होंगे। यह संगठन आरएसएस और योगी आदित्यनाथ के संगठन ‘हिंदू युवा वाहिनी’ का मुकाबला करने को तैयार है।

तेजप्रताप ने कहा, ‘डीएसएस आरक्षण के मुद्दे पर आरएसएस को खदेड़ देगा। आरक्षण हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है। हम आरएसएस की मनमानी नहीं चलने देंगे।’

डीएसएस के गठन को लेकर भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने तेजप्रताप को पहले आरएसएस का प्रशिक्षण लेने की सलाह दे दी। उन्होंने कहा, ‘तेजप्रताप को पहले आरएसएस की ट्रेनिंग लेनी चाहिए। उसके बाद कोई संगठन बनाने की बात करनी चाहिए। प्रशिक्षण लेने के बाद संगठन की असफलता का शक कम हो जाएगा। बिना प्रशिक्षण के असफलता का भय बना रहेगा।’

Hindi News