Monthly Archives: November 2017

VIDEO: अपर्णा यादव के 'घूमर' डांस पर बोली करणी सेना – राजपूत होकर भी समाज का सम्मान नहीं किया

करणी सेना ने अपर्णा यादव के पद्मावती’ के गाने घूमर पर डांस करने पर कड़ी आपत्ति जाहिर की है.
Hindi News

राहुल गांधी के सोमनाथ मंदिर जाने पर विवाद, गैर हिंदुओं के रजिस्टर में दर्ज कराया नाम

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के गुजरात के सोमनाथ मंदिर में जाने पर विवाद शुरू हो गया है. विवाद की वजह यह है कि राहुल गांधी यहां गैर हिंदू की हैसियत से पहुंचे थे. 
Hindi News

‘जान की चिंता, माल की चिंता.. सबसे बड़ी देशभक्ति’… नीतीश ने लालू पर कसा तंज

पटना : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को एक बार फिर से राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद पर निशाना साधा. लालू प्रसाद द्वारा अपनी सुरक्षा में कटौती पर प्रश्न उठाए जाने पर नीतीश ने लालू प्रसाद को उनकी बेनामी ‘संपत्ति’ मामले में घेरने की कोशिश की.

जद(यू) के अध्यक्ष नीतीश कुमार ने इशारों ही इशारों में बिना किसी का नाम लिए ट्वीट कर लिखा, “जान की चिंता, माल की चिंता. सबसे बड़ी देशभक्ति है.” आमतौर पर ट्विटर से दूर रहने वाले नीतीश कुमार ने मंगलवार को भी लालू की सुरक्षा में कटौती को लेकर उपजे विवाद को लेकर लालू पर निशाना साधा था. 

सरकार द्वारा जेड प्लस सुरक्षा में कटौती के बाद लालू प्रसाद ने सोमवार को नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा था कि अगर उन्हें कुछ हुआ तो इसके जिम्मेदार नीतीश और मोदी होंगे.

नीतीश कुमार ने किया यह ट्ववीट…

 

इस बीच मुख्यमंत्री के ट्वीट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए लालू छोटे पुत्र और बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने पत्रकारों से बातचीत में आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ दलों से निकट सभी अप्रासंगिक लोगों को सुरक्षा मिली हुई है जो सरकार की प्राथमिकताओं को दर्शाता है.

लालू यादव बोले, पीएम मोदी हमसे इतना काहे डरते हैं? जानें, किस बात से नाराज हैं RJD चीफ

उल्‍लेखनीय है कि केन्द्र ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रमुख लालू प्रसाद यादव की एनएसजी कमांडो वाली जेड+ वीआईपी सुरक्षा हटा ली है. इस पर राजद प्रमुख और उनके दोनों पुत्रों तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव ने षड्यंत्र का आरोप लगाया है. तेज प्रातप ने तो तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘खाल’ उतरवा लेने की धमकी दे डाली.

इसके बाद राजद प्रमुख लालू ने पटना में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था, लालू ऐसे नहीं हैं जिसे भयभीत किया जा सके. बिहार की जनता मेरी रक्षा करेगी. यद्यपि मुझे कुछ होता है तो राज्य की नीतीश कुमार सरकार और केंद्र की मोदी सरकार दोनों संयुक्त रूप से जिम्मेदार होंगे. लालू के दो पुत्रों तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव ने सरकार के इस निर्णय पर नाराजगी भरी प्रतिक्रिया व्यक्त की.

Hindi News

आपकी याददश्त बढ़ाने में मदद करेगा VITAMIN D, दूर करेगा ये बीमारी

नई दिल्ली: विभिन्न अध्ययनों से साबित हो चुका है कि विटामिन डी से हृदय रोग, स्कलेरोसिस और यहां तक कि गठिया जैसे रोगों के खतरे को कम करने में मदद मिल सकती है. एक नए अध्ययन में पाया गया है कि विटामिन डी की कमी से डिमेंशिया या मनोभ्रंश होने का जोखिम बढ़ सकता है. अध्ययन के अनुसार, विटामिन डी की अधिक कमी वाले लोगों में डिमेंशिया होने की संभावना 122 प्रतिशत अधिक थी. भारत में धूप की कोई कमी नहीं होती, फिर भी लगभग 65 से 70 प्रतिशत भारतीय लोगों में इस सबसे जरूरी विटामिन की कमी है. विटामिन डी शरीर की लगभग हर कोशिका को प्रभावित करता है.

यह भी पढ़े- विटामिन-डी की कमी पूरा करेगा डी-3

यह सूर्य के प्रकाश में रहने पर त्वचा में उत्पन्न होता है और कैल्शियम के अवशोषण तथा हड्डियों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है. विटामिन डी का लेवल कम होने पर हड्डियों को नुकसान पहुंचता है.  हालांकि, यह विटामिन दिल, मस्तिष्क और प्रतिरक्षा तंत्र के लिए भी उतना ही महत्वपूर्ण है. इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल ने कहा, “विटामिन डी की कमी मैटाबोलिक सिंड्रोम, हृदय रोगों और प्रजनन क्षमता से जुड़ी हुई है. अनुसंधान से पता चला है कि इसकी कमी से मनोभ्रंश भी हो सकता है. भारत में, विभिन्न त्योहारों पर सूर्य की पूजा की जाती है.

यह भी पढ़े- सर्दियों के मौसम में रखें जोड़ों का खास ख्‍याल

माघ, वैशाख और कार्तिक माह में शाही स्नान का महत्व है, जब सुबह-सुबह सूरज की पूजा-अर्चना करने और कैल्शियम से समृद्ध भोजन करने का प्रावधान है, जिसमें उड़द की दाल और तिल प्रमुख हैं. ” अग्रवाल ने कहा, “दीवाली के तुरंत बाद छठ की पूजा में भी सूर्य आराधना प्रमुख है. कार्तिक के महीने के बाद मार्गशीर्ष में भी सूर्य की पूजा की जाती है. कार्तिक पूर्णिमा और वैशाख पूर्णिमा विशेष रूप से सूरज की पूजा के लिए ही जानी जाती है. वर्तमान में विटामिन डी का मंत्र यह है कि वर्ष में कम से कम 40 दिन 40 मिनट रोज सूर्य की रोशनी में रहना चाहिए.

यह भी पढ़े- अगर माइग्रेन से हैं परेशान तो विटामिन को ना करें नज़रअंदाज़!

इसका सही लाभ तब मिलता है जब शरीर का कम से कम 40 प्रतिशत हिस्सा सूर्य की रोशनी के संपर्क में आए, भले ही प्रात:काल या शाम के समय. उन्होंने कहा, “विटामिन डी 2 एर्गोकैल्सीफेरॉल हमें खाद्य पदार्थो से मिलता है, जबकि विटामिन डी 3 कोलेकैल्सीफेरॉल सूर्य की रोशनी पड़ने पर हमारे शरीर में उत्पन्न होता है. दोनों विटामिन हमारे लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है.  डी 2 जहां भोजन से प्राप्त किया जा सकता है, लेकिन डी 3 का उत्पादन सूर्य के प्रकाश में ही होता है. ”  डॉ. अग्रवाल ने बताया कि विटामिन डी की कमी के कई कारण हैं. कई बार सामाजिक कारणों से व्यक्ति धूप में कम निकलता है. भारत में प्रचुर मात्रा में धूप उपलब्ध रहती है, फिर भी बहुत से लोग अनजान हैं कि उन्हें विटामिन डी की कमी हो सकती है. 

यह भी पढ़े- बचपन में विटामिन डी की कमी से दिल की बीमारी का खतरा

डिमेंशिया (मनोभ्रंश) क्या है 
डिमेंशिया (Dementia, मनोभ्रंश) किसी बीमारी का नाम नहीं, बल्कि लक्षणों के समूह का नाम है, जो मस्तिष्क की हानि से सम्बंधित हैं. “Dementia” शब्द “de” (without) और “mentia” (mind ) को जोड़ कर बनाया गया है.  डिमेंशिया के लक्षण कई रोगों की वजह से होता है. जिसकी वजह से कई गंभीर रोग पैदा हो जाते है. ये सभी रोग मस्तिष्क को नुकसान पहुंचाते है. डिमेंशिया से ग्रस्त इंसान अपने दैनिक काम ठीक से नहीं कर पाता.इन व्यक्तियों की याददाश्त कमजोर हो सकती है

डिमेंशिया (मनोभ्रंश) के कुछ लक्षण- 
– नाश्ता करा था या नहीं भूल जाना
छोटी समस्यों से घबराना
– रोज के कामों में में दिक्कत महसूस करना
– दिनों के नाम भूल जाना 
– अच्छे से बोल न पाना, लिख न पाना 
–  छोटी-छोटी बात पर गुस्सा करना 

विटामिन डी के  स्रोत :-
– कॉड लिवर ऑयल : यह तेल कॉड मछली के जिगर से प्राप्त होता है और सेहत के लिए बेहद अच्छा माना जाता है. इससे जोड़ों के दर्द को कम करने में मदद मिलती है और इसे कैप्सूल या तेल के रूप में प्रयोग किया जा सकता है. 

–  मशरूम : यदि आपको मशरूम पसंद हैं, तो आपको विटामिन डी भरपूर मिल सकता है. सूखे शिटेक मशरूम विटामिन डी 3 के साथ-साथ विटामिन बी के भी शानदार स्रोत हैं.  इनमें कम कैलोरी होती है और इन्हें जब चाहे खाया जा सकता है. 

– सामन : इसमें डी 3, ओमेगा 3 और प्रोटीन अधिक होता है.  

इनपुट आईएएनएस से भी 

Hindi News

उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव : तीसरे चरण में 26 जिलों में मतदान शुरू

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में नगर निकाय चुनाव के अंतिम व तीसरे चरण के लिए प्रदेश के 26 जिलों में आज वोटिंग हो रही है. मतदान प्रकिया सुबह साढ़े सात बजे शुरू हो गई, जोकि शाम पांच बजे तक चलेगी.  तीसरे चरण के तहत सहारनपुर, बागपत, बुलंदशहर, मुरादाबाद, संभल, बरेली, एटा, फीरोजाबाद, कन्नौज, औरैया, कानपुर देहात, झांसी, महोबा, फतेहपुर, रायबरेली, सीतापुर, लखीमपुर खीरी, बाराबंकी, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, महराजगंज, कुशीनगर, मऊ, चंदौली, जौनपुर व मिर्जापुर में वोट डाले जा रहे हैं.

तीसरे चरण के मतदान के लिए आयोग ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं. 26 जिलों के 233 नगरीय निकायों के 4,532 पदों के लिए 28,135 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. तीसरे चरण में पांच नगर निगम, 76 नगर पालिका परिषद व 152 नगर पंचायतों के लिए मतदान किया जा रहा है. इस चुनाव में कुल 94,05,122 लाख मतदाता प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला करेंगे. इनमें 53.09 प्रतिशत पुरुष व 46.90 प्रतिशत महिला मतदाता शामिल हैं. मतदान के मद्देनजर 1,58,894 लाख पोलिंग कर्मियों की तैनाती की गई है. राज्य निर्वाचन आयोग ने मतदान के लिए 3,599 मतदान केंद्र व 10,817 मतदान स्थल बनाए हैं.

निर्वाचन आयोग से मिली जानकारी के मुताबिक, सुरक्षा के मद्देनजर तीसरे चरण के चुनाव में 40 कंपनी सेंट्रल पैरामिलिट्री फोर्स और 71 कंपनी पीएसी बल की तैनाती की गई है.

उल्‍लेखनीय है कि प्रदेश में नगर निकाय चुनाव के पहले चरण का मतदान 22 नवंबर को हुआ था, जबकि दूसरे चरण का मतदान 26 नवंबर को संपन्न हुआ. मतगणना एक दिसंबर को होगी. निकाय चुनाव में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित प्रदेश के भारतीय जनता पार्टी के सभी बड़े नेताओं ने जबरदस्त प्रचार किया, जबकि समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस के बड़े नेता इन चुनावों में प्रचार से दूर रहे.

Hindi News

GES 2017: पीएम नरेंद्र मोदी ने निवेश, इवांका ट्रंप ने महिला कानून पर दिया जोर

हैदराबाद: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां उद्यमियों के तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन का मंगलवार (28 नवंबर) को उद्घाटन किया. उन्होंने इस मौके पर वैश्विक निवेशकों को आमंत्रित करते हुए कहा कि वे भारत में निवेश के अनुकूल माहौल का फायदा उठाएं. जबकि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी और सलाहकार इवांका ने कहा कि कई विकासशील और विकसित देशों में अभी महिलाओं के लिए न्यायसंगत कानूनों के संदर्भ में बहुत कुछ करना बाकी है.मोदी ने यहां 2017 वैश्विक उद्यमिता सम्मेलन में कहा, “दुनिया भारत के मेरे निवेशक मित्रो, मैं आपसे कहना चाहता हूं कि आइए, भारत में उत्पादन कीजिए, भारत में निवेश कीजिए, भारत के लिए और दुनिया के लिए. मैं आप सब को भारत के विकास की कहानी में भागीदार बनने के लिए आमंत्रित करता हूं. और एक बार फिर आपको आश्वस्त करता हूं कि हम आपको पूरे दिल से समर्थन देंगे.”

इस सम्मेलन का आयोजन अमेरिका और भारत द्वारा मिलकर किया जा रहा है. इस सम्मेलन में 159 देशों के 1500 उद्यमी, निवेशक और पारिस्थितिकी तंत्र समर्थक भाग ले रहे हैं. मोदी ने भारत के युवा निवेशकों से कहा कि साल 2022 तक नया भारत बनाने के लिए उनके पास योगदान करने के लिए उनमें से प्रत्येक के पास कुछ न कुछ मूल्यवान है. उन्होंने कहा, “आप भारत के बदलाव के वाहक हैं.” उन्होंने कहा, “मेरी सरकार यह समझती है कि पारदर्शी नीतियों का वातावरण, समान अवसर मुहैया कराने की नीति, और कानून का शासन उद्यमिता के फलने-फूलने के लिए बहुत जरूरी है.”

मोदी ने कहा, “कराधान प्रणाली में हाल ही में ऐतिहासिक बदलाव किया गया और देश भर में वस्तु एवं सेवा कर लागू किया गया. 2016 में हमारी शुरू की गई दिवाला और दिवालियापन संहिता तनावग्रस्त उपक्रमों को समय पर समाधान उपलब्ध कराने की दिशा में एक कदम है. हमने हाल में इसे बेहतर किया है, जो जानबूझकर कर्ज नहीं चुकानेवालों को तनावग्रस्त परिसंपत्तियों की बोली लगाने से रोकता है.” नोटबंदी के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि समानांतर अर्थव्यवस्था पर काबू पाने, कर चोरी रोकने और काले धन पर काबू पाने के लिए कड़े कदम उठाए गए हैं.

उन्होंने कहा कि विश्व बैंक के लॉजिस्टिक्स प्रदर्शन सूचकांक में भारत 2014 में 54 पर था, जो अब 35 पर है. इससे देश में उत्पादों को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के लिए दक्षता और आसानी का पता चलता है. उन्होंने कहा, “निवेश अनुकूल वातावरण को व्यापक-आर्थिक परिपेक्ष्य में स्थिर होना चाहिए. हमने वित्तीय घाटा और चालू खाता घाटे पर काबू पाने के साथ मुद्रास्फीति को भी काबू में रखने पर सफलता प्राप्त की है. हमारा विदेशी पूंजी भंडार 400 अरब डॉलर को पार कर चुका है और हम लगातार विदेशी निवेश को आकर्षित कर रहे हैं.”

प्रधानमंत्री से पहले इवांका ने सम्मेलन में अपनी बात रखी. यहां आठवें सालाना वैश्विक उद्यमिता सम्मेलन जीईएस को संबोधित करते हुए इवांका ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भूरि भूरि प्रशंसा की और कहा- प्रधानमंत्री मोदी भारत को एक संपन्न अर्थव्यवस्था, लोकतंत्र का प्रकाश स्तंभ व दुनिया में उम्मीद का प्रतीक बनाने के लिए काम कर रहे है.’ इवांका ने कहा, ‘आप जो हासिल कर रहे हैं वह वास्तव​ में ही विशिष्ट है.’ 

इवांका ने कहा, ‘आप जो हासिल कर पा रहे हैं वह वास्तव में अद्भुत है … बचपन में चाय बेचने से लेकर भारत का प्रधानमंत्री चुने जाने तक.’ उन्होंने कहा, ‘आपके अपने प्रयासों, उद्यमिता व कठोर मेहनत से भारत के लोगों ने 13 करोड़ से अधिक नागरिकों को गरीबी रेखा से बाहर निकाला है. यह उल्लेखनीय उपलब्धि है और मैं जानती हूं कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में यह बढ़ना जारी रखेगा.’ 
उन्होंने कहा, ‘यहां भारत में, मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना उनके इस विश्वास के लिए करना चाहूंगी कि मानवता की प्रगति महिला संशक्तिकरण के बिना अधूरी है.’ उन्होंने कहा कि भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में से एक है और व्हाइट हाउस में उसका एक सच्चा मित्र है. इवांका ने उल्लेख किया कि राष्ट्रपति ट्रंप ने इसी साल के शुरू में कहा था कि व्हाइट हाउस में भारत के लिए एक सच्चा मित्र है.

अपने संबोधन में इवांका ने ​महिला उद्यमियों को प्रोत्साहित करने पर जोर दिया और कहा कि महिला उद्यमियों की बढ़ती संख्या के बावजूद महिलाओं को खुद का कारोबार शुरू करने, स्वामित्व रखने व उसे आगे बढ़ाने में बड़ी दिक्कतें आती हैं. उन्होंने कहा, ‘महिला की अगुवाई वाले कारोबार को बल देना केवल समाज के लिए ही अच्छा नहीं है बल्कि यह हमारी अर्थव्यवस्था के लिए भी अच्छा है. एक अध्ययन के अनुसार दुनिया भर में अगर उद्यमशीलता में स्त्री पुरुष असमानता को दूर कर दिया जाए तो हमारी वैश्विक जीडीपी दो प्रतिशत तक बढ़ सकती है.’ 

उन्होंने कहा, “जब न्यायसंगत कानूनों की बात आती है, तो कई विकसित और विकासशील देशों ने जबरदस्त प्रगति की है, फिर भी बहुत कुछ किया जाना बाकी है.” उन्होंने कहा कि कुछ देशों में महिलाओं को संपत्ति का अधिकार नहीं दिया जाता, अकेले सफर करने नहीं दिया जाता, या बिना अपने पतियों के सहमति से काम करने नहीं दिया जाता. वहीं, कुछ अन्य देशों में सांस्कृतिक और पारिवारिक दवाब इतना ज्यादा होता है कि महिलाओं को घर से बाहर जाकर काम करने की आजादी नहीं मिलती. उन्होंने कहा, “हमारा प्रशासन दुनिया भर में महिलाओं के लिए अधिक से अधिक अवसरों को बढ़ावा देने का प्रयास कर रहा है, इसे हमारे घरेलू सुधारों और अंतर्राष्ट्रीय पहलों के माध्यम से बढ़ावा दिया जा रहा है.” उन्होंने कहा कि जब कोई महिला काम करती है, तो यह ‘गुणक प्रभाव’ पैदा करता है और परिवार और समाज में और अधिक पुनर्निवेश करता है.

उन्होंने कहा, “जब महिलाएं काम करती हैं, तो इससे विशिष्ट गुणक प्रभाव पैदा होता है. महिलाओं द्वारा पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को नौकरी देने की संभावना अधिक होती है, और उन्हें पूंजी, परामर्श और नेटवर्क तक पहुंच प्रदान करती है. महिलाओं द्वारा अपने परिवारों और समुदायों में अपनी आय को फिर से निवेश करने की संभावना अधिक होती है.” उन्होंने कहा, “यह बात मान लें कि यदि भारत श्रम शक्ति में लिंगभेद को आधा भी कम कर देता है तो आपकी अर्थव्यवस्था अगले तीन सालों में 150 अरब डॉलर से अधिक बढ़ेगी.” इस सम्मेलन में भाग लेने वाले प्रतिनिधिमंडल में 400 भारत से और 400 अमेरिका से तथा बाकी के सदस्य बाकी दुनिया से हैं. 

Hindi News

पीएम मोदी ने कहा, केंद्र राजनीतिक आधार पर राज्यों के साथ भेदभाव नहीं करेगा

मोदी ने कहा, “केंद्र सरकार तेलंगाना और देश का भविष्य बदलने के लिए लगातार विकास के पथ पर कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ेगी.”

पीएम मोदी ने कहा, केंद्र राजनीतिक आधार पर राज्यों के साथ भेदभाव नहीं करेगा

हैदराबाद में एक जनसभा को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (IANS/28 Nov, 2017)

Hindi News

Game of Gujarat: अमित शाह ने खोला ‘सीक्रेट’, राहुल गांधी ने कांग्रेस अध्यक्ष बनने के लिए क्यों चुनी यह टाइमिंग

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी के अध्यक्ष बनने की खबरों पर चुटकी ली है. जी न्यूज के शो ‘गेम ऑफ गुजरात’ (Game of Gujarat) में अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी को 2011 से अध्यक्ष बनाने की तैयारी चल रही है. उस समय मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और गुजरात में हार के चलते राहुल अध्यक्ष नहीं बन पाए. 2014 में कांग्रेस की बुरी हार के चलते यह मामला ठंढे बस्ते में चला गया. फिर महाराष्ट्र, हरियाणा, झारखंड, असम आदि राज्यों में कांग्रेस की हार के चलते राहुल गांधी की ताजपोशी टल गई. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले एक बार फिर से इसकी चर्चा शुरू हुई, लेकिन करारी हार के चलते यहां भी निराशा हाथ लगी. इस बार राहुल गांधी गुजरात विधानसभा चुनाव के परिणाम आने से पहले ही अध्यक्ष बनना चाहते हैं, उन्हें डर है कि परिणाम आने के बाद उनके कांग्रेस अध्यक्ष बनने की तारीख फिर से न टल जाए.

‘नेता आउटसोर्स करती है कांग्रेस’
‘गेम ऑफ गुजरात’ (Game of Gujarat) में अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस के पास अपना नेता नहीं है. कांग्रेस अपना चुनाव आउटसोर्स करती है. यूपी चुनाव में पहले राहुल गांधी खाट सभा पर निकले. उसके फ्लॉप होने के बाद वहां के नेता (अखिलेश यादव) के साथ हो लिए. गुजरात में आए तो आंदोलन कर रहे तीन लड़कों (जिग्नेश मेवानी, हार्दिक पटेल और अल्पेश ठाकुर) के साथ हो लिए. ऐसा लगता है राहुल कांग्रेस की नहीं, इन तीन लड़कों के लिए प्रचार कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें: Game of Gujarat शो में आए सारे मेहमानों का बयान यहां पढ़ें

गुजरात का चश्मा पहनें, तब दिखेगा विकास
अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी या किसी को गुजरात में विकास नहीं दिखता है तो इसका मतलब है कि उसका चश्मा विदेशी है. वे गुजरात के आप्टिकल शॉप से चश्मा खरीदकर पहने उन्हें विकास दिखने लगेगा.

ये भी पढ़ें: Game of Gujarat: अमित शाह बोले- जय पर आरोप लगाने वाले पी चिदंबरम से लें टर्नओवर और प्रॉफिट की ट्यूशन

‘बीजेपी का हर कार्यकर्ता राष्ट्र्वादी है’
अमित शाह ने स्पष्ट किया कि भारतीय जनता पार्टी का हर कार्यकर्ता राष्ट्रवादी है. राष्ट्रवादी होना दोष है, अगर ऐसी किसी की सोच है तो जनता उसे पसंद नहीं करेगी. शाह ने कहा कि मैंने पहली बार राजनीति को इतने निचले स्तर पर जाते हुए देखा है. पाकिस्तान में आतंकी हाफिज सईद की रिहाई पर हमपर निशाना साधा जा रहा है. मैं तो ये कहता हूं कि बीजेपी के शासन में हाफिज सईद एक बार तो जेल गया, जो पहले कभी नहीं हुआ.

ये भी पढ़ें: Game of Gujarat: जानें किस सवाल के जवाब पर अमित शाह बोले, काउंटिंग के दिन फोन कीजिएगा

‘कांग्रेस के पास वोट बैंक है, पर जीत हम जाते हैं’
क्या आप मानते हैं कांग्रेस कमजोर नहीं है, उनका वोट बैंक है? इस सवाल के जवाब पर अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस का वोट बैंक है, मैं मानते हूं, लेकिन फिर भी हम जीत जाते हैं. पद्मावति के मुद्दे पर अमित शाह ने कहा कि फिल्म में इतिहास से छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए. वैसे इस मुद्दे को सेंसर बोर्ड देखेगी. फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेशन की बहस पर जनता जवाब देगी. जीएसटी में और भी बदलाव होंगे. कर के रेट में भी बदलाव होंगे.

ये भी पढ़ें: Game of Gujarat: अमित शाह बोले- कांग्रेस के लिए विकास एक मजाक है और बीजेपी के लिए मिजाज

‘गुजरात के युवा सही आंकड़ों के लिए वेबसाइट देख लेंगे, भ्रमित नहीं होंगे’
अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस के लिए विकास एक मजाक है और बीजेपी के लिए मिजाज है. विकास का मजाक बनाने वालों को ये मालूम नहीं है कि उनके शासन में गुजरात में 365 दिनों में अधिकतर दिन कर्फ्यू लगा होता था. बीजेपी अध्यक्ष ने कहा कोई कितना भी दुष्प्रचार कर ले, लेकिन गुजरात की जनता असलियत जानने के लिए वेबसाइट देख लेंगे. राहुल गांधी नर्मदा रिवर फ्रंट पर खड़े होकर गुजरात में विकास का हिसाब मांगते हैं, लेकिन उन्हें ये नहीं याद है कि वे जिस रिवर फ्रंट पर आकर विकास का हिसाब मांगते हैं, वहां उनकी सरकार के दौरान नाला बहता था. राहुल गांधी के फॉलोअर सोशल मीडिया पर विदेशों से बढ़ रहे हैं. वहां के लोग वोट डालने नहीं आएंगे.

Hindi News

GES 2017: इवांका के बाद, 1500 कारोबारियों के बीच 13 साल के हमीश ने खींचा मीडिया का ध्यान

क्वींसलैंड से आया सातवीं कक्षा का छात्र पर्यावरण की रक्षा की आवश्यकताओं को लेकर काफी जोश में है और वह पर्यावरण पर चार एप्स बना चुका है.

GES 2017: इवांका के बाद, 1500 कारोबारियों के बीच 13 साल के हमीश ने खींचा मीडिया का ध्यान

ऑस्ट्रेलिया का एप डेवलपर हमीश फिनलेसन. (Twitter/28 Nov, 2017)

Hindi News

दुस्‍साहस: महिला न्यायाधीश के अपहरण का प्रयास करने वाला कैब चालक गिरफ्तार

महिला न्यायाधीश का कथित रूप से अपहरण करने का प्रयास करने वाले कैब चालक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

दुस्‍साहस: महिला न्यायाधीश के अपहरण का प्रयास करने वाला कैब चालक गिरफ्तार

पुलिस का कहना है कि चालक एक निजी कंपनी से जुड़ा हुआ है.(प्रतीकात्मक तस्वीर)

Hindi News