Monthly Archives: December 2017

किसानों से सस्ते दाम पर दूध खरीदने के बयान पर फंसे महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष

महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष ने अपने बयान में कहा कि उनकी डेयरी राज्य सरकार द्वारा तय दरों से कम दाम पर किसानों से दूध खरीदती है. बता दें कि महाराष्ट्र सरकार के सर्कुलर के मुताबिक डेयरियों को किसानों से 27 रूपए प्रतिलीटर की दर से दूध खरीदना अनिवार्य है.

किसानों से सस्ते दाम पर दूध खरीदने के बयान पर फंसे महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष

महाराष्ट्र विधानसभा (फाइल फोटो)

Hindi News

इंटरव्यू देने पर राहुल गांधी को EC के नोटिस पर भड़की कांग्रेस, PM मोदी पर कार्रवाई की मांग की

कांग्रेस ने गुजरात में दूसरे चरण के विधानसभा चुनाव की पूर्व संध्या पर बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से एक प्रमुख औद्योगिक संगठन के कार्यक्रम को संबोधित करने की ओर निर्वाचन आयोग का ध्यान दिलाते हुए उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की.

इंटरव्यू देने पर राहुल गांधी को EC के नोटिस पर भड़की कांग्रेस, PM मोदी पर कार्रवाई की मांग की

बीजेपी नेताओं की प्रेस कांफ्रेंस की शिकायत लेकर चुनाव आयोग पहुंचे कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला और आरपीएन सिंह. तस्वीर साभार: ANI

Hindi News

महिला आरक्षण को अपने पाले में रखना चाहते हैं राहुल गांधी, दिया ये बयान

राष्ट्रीय महिला कांग्रेस की एक कार्यशाला में भाग लेते हुए राहुल ने देश की इस सबसे पुरानी पार्टी में बदलाव लाने के लिए महिलाओं द्वारा निभायी जाने वाली भूमिका को रेखांकित किया.

महिला आरक्षण को अपने पाले में रखना चाहते हैं राहुल गांधी, दिया ये बयान

राष्ट्रीय महिला कांग्रेस की एक कार्यशाला को संबोधित करते राहुल गांधी. (PTI/13 Dec, 2017)

Hindi News

सुप्रीम कोर्ट के एक और जज ने वकीलों के जोर से बोलने पर खोया संयम

यह घटना उस समय हुयी जब 5 सदस्यीय संविधान पीठ इस सवाल पर विचार कर रही थी कि क्या दूसरे धर्म के व्यक्ति से शादी करने के बाद पारसी महिला अपनी धार्मिक पहचान गंवा देती है.

सुप्रीम कोर्ट के एक और जज ने वकीलों के जोर से बोलने पर खोया संयम

उच्चतम न्यायालय (सुप्रीम कोर्ट).

Hindi News

मनमोहन सिंह ने फिर कहा-माफी मांगें PM मोदी, पलटवार में अमित शाह ने दागे ये 5 सवाल

नई दिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने एक बार फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जुबानी हमला किया है. गुजरात चुनाव के दूसरे चरण के मतदान की पूर्व संध्या पर मनमोहन सिंह ने कहा राजनीतिक फायदा उठाने के लिए झूठ का पुलिंदा और लांछन लगाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि बिना विचारे लक्ष्मण रेखा लांघने के लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए. पूर्व पीएम के इस बयान के तुरंत बाद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने प्रेस कांफ्रेंस कर मनमोहन सिंह पर पलटवार किया. शाह ने यूपीए कार्यकाल में हुए घोटालों और राहुल गांधी की ओर से ऑर्डिनेंस फाड़े जाने का जिक्र करते हुए मनमोहन सिंह से पांच सवाल पूछे हैं.

शाह ने मनमोहन से पूछ ये सवाल
1. अमित शाह ने कहा कि मनमोहन सिंह इन दिनों काफी नाराज हैं, लेकिन देश उस समय उनके गुस्से को नहीं देख पाया जब उनकी नजर के सामने भयंकर लूट हो रही थी. जब उनकी (मनमोहन सिंह) नाक तले जबरदस्त करप्शन हुआ, तब भी गुस्सा आना चाहिए था. इस प्रकार की राजनीति की अपेक्षा मनमोहन सिंह से नहीं थी.’

2. अमित शाह ने सवाल किया कि मनमोहन सिंह का गुस्सा तब कहां था, जब राहुल गांधी ने उनके कैबिनेट की ओर से पारित अध्यादेश को फाड़ दिया था, तब प्रधानमंत्री कार्यालय के सम्मान की चिंता कहां थी. मनमोहन सिंह तब क्यों चुप रहे जब देश के प्रधानमंत्री को ‘नीच’ कहा जा रहा था.

3. अमित शाह ने कहा, ‘उनके (मनमोहन) पीएम रहते लाखों करोड़ के जब घोटाले होते रहे, जब उनका एक ऑर्डिनेंस कांग्रेस के मौजूदा अध्यक्ष ने ही फाड़ दिया था, तब उन्हें पद की गरिमा क्यों नहीं याद आई.’ अमित शाह ने मनमोहन पर तंज कसते हुए कहा, ‘वह पहले भी गुजरात में प्रचार कर चुके हैं, लेकिन इस तरह गुस्से में वह कभी नहीं दिखे, यह उनका स्वभाव नहीं है. शायद इस बार उनके ऊपर पार्टी का दबाव कुछ ज्यादा था.’ 

4. बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, ‘आखिर उन्हें उस वक्त गुस्सा क्यों नहीं आया, जब सोनिया गांधी ने तत्कालनी सीएम नरेंद्र मोदी को मौत का सौदागर कहा. आखिर वह भी तो संवैधानिक पद था. 

5. अमित शाह ने कहा कि मनमोहन सिंह को बताना चाहिए कि पहले रणदीप सुरजेवाला और आनंद शर्मा ने पाकिस्तान के उच्चायुक्त और पूर्व विदेश मंत्री के साथ बैठक की बात पर क्यों पर्दा डाला, इसके बाद जब बैठक की बात स्वीकारी तो कहा कि यह डिनर मीटिंग थी. आखिर मीटिंग को छिपाने की क्या जरूरत थी, यह मनमोहन सिंह को देश को बताना चाहिए.

वोटिंग की पूर्व संध्या पर मनमोहन सिंह से कहा माफी मांगें
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने गुजरात चुनाव के दूसरे चरण के मतदान की पूर्व संध्या पर बुधवार को अपने उत्तराधिकारी नरेन्द्र मोदी पर फिर हमला बोलेते हुए उन पर राजनीतिक फायदा उठाने के लिए ‘‘झूठ का पुलिंदा और लांछन’’ लगाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि बिना विचारे लक्ष्मण रेखा लांघने के लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए.

दो दिन पहले ही मनमोहन ने प्रधानमंत्री मोदी पर उनके उस बयान के लिए तीखा पलटवार किया था कि गुजरात चुनाव में कांग्रेस नेता ने पाकिस्तान के साथ मिलीभगत की है. मनमोहन ने कहा कि जन सेवकों की राष्ट्रीयता पर सवाल उठाना अनुचित है.

पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि वह इस बात से बहुत दुखी और उद्विग्न हैं कि कोई और नहीं बल्कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा राजनीतिक फायदा उठाने के लिए झूठ का पुलिंदा और लांछन लगाये जा रहे हैं.

Hindi News

पंजाब : 50 साल की दुल्हन करती थी ये करतूत, जानकर रह जाएंगे दंग

50 साल की परमजीत कौर अखबार में शादी का विज्ञापन देकर लोगों को लूटती थी. इसमें उसके 5 साथी उसका साथ देते थे.
Hindi News

EXCLUSIVE- पीएम मोदी ने चुनाव प्रचार में भ्रष्‍टाचार का मुद्दा नहीं उठाया: राहुल गांधी

कांग्रेस के नवनिर्वाचित अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने जी न्‍यूज से खास बातचीत में पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए कहा कि गुजरात चुनाव प्रचार अभियान में प्रधानमंत्री ने भ्रष्‍टाचार का मुद्दा नहीं उठाया. उन्‍होंने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि जीएसटी से गुजरात में 50 फीसद आमदनी कम हुई है. बीजेपी मुद्दों से ध्‍यान भटकाती है. लेकिन अबकी बार गुजरात की जनता चुनावों में सच्‍चाई पर वोट करेगी. गुजरात में सत्‍ता में आने की स्थिति में कांग्रेस की प्राथमिकताओं के बारे में कहा कि हमारी सरकार अपने मन की बात नहीं करेगी, बल्कि जनता के मन की बात करेगी. इसके साथ ही कहा कि गुजरात ने मुझे प्रेम दिया. गुजरात ने मेरा दिल जीत लिया है. गुजरात से मेरा प्‍यार अब हमेशा के लिए है.

राहुल गांधी ने कहा, ”ये चुनाव सच्‍चाई के मुद्दे पर लड़ा गया. नोटबंदी और ‘गब्‍बर सिंह टैक्‍स’ (जीएसटी) जैसे मुद्दों की सच्‍चाई पर लड़ा गया. आप सूरत, अहमदाबाद या गुजरात के किसी भी हिस्‍से में चले जाएं, सभी छोटे व्‍यापारी यही कह रहे हैं कि जीएसटी ने उनको तबाह कर दिया.” इसके साथ ही जोड़ते हुए कहा कि ये चुनाव पीएम मोदी या मेरे लिए नहीं बल्कि गुजरात की जनता के लिए है.

बीजेपी पर हमलावर रुख अख्तियार करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि जीएसटी के बाद जिनके पास भी काला धन था, वो सभी सफेद में बदल गया. 

गुजरात में कांग्रेस का विजन
गुजरात में कांग्रेस की प्राथमिकताओं के बारे में राहुल गांधी ने कहा कि गुजरात का विजन जनता द्वारा तय किया जाएगा. यह लोगों की इच्‍छा के अनुरूप तैयार किया जाएगा. मैं इसके निर्माण में मदद करूंगा लेकिन गुजरात का विजन लोगों की इच्‍छाओं के अनुरूप ही होगा. 

यह भी पढ़ें: थोड़ा इंतजार कीजिए, गुजरात का नतीजा बहुत जबर्दस्‍त आने वाला है: राहुल गांधी

इससे पहले मंगलवार को अहमदाबाद में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा था कि पिछले 22 वर्षों में मोदी जी और रूपाणी जी ने केवल एकतरफा विकास किया है. केवल 5-10 लोगों को फायदा मिला है. हरेक को उनके अधिकार नहीं दिए गए हैं. इसके उलट हम लोग गुजरात के बारे में जो भी निर्णय लेंगे, वो गुजरात की जनता की आवाज सुनकर और उनसे बात करके लेंगे. कोई भी निर्णय एकतरफा नहीं होगा. 

अपने मंदिर जाने के बारे में उठ रहे सवालों का जवाब देते हुए राहुल गांधी ने कहा कि जहां मौका मिलता है, वहां मंदिर जाता हूं. केदारनाथ भी गया था, वो क्‍या गुजरात में है? मैं इस दौरान जिन भी मंदिरों में गया, वहां मैंने गुजरात के लोगों के ‘सुनहरे भविष्‍य’ की कामना की. यहां बेहतर विकास की प्रार्थना की. क्‍या मंदिर में जाना गलत बात है? इससे पहले राहुल गांधी ने चुनाव प्रचार के अंतिम दिन गुजरात में जगन्‍नाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की थी.

बीजेपी के रुख से आश्‍चर्य
राहुल गांधी ने कहा कि गुजरात के लोग बहुत समझदार हैं. वो इस बात को समझ सकते हैं कि पीएम मोदी अपनी रैलियों में किसानों या भ्रष्‍टाचार की बात नहीं करते. यहां पर जबर्दस्‍त अंडरकरंट है. थोड़ा इंतजार कीजिए, गुजरात का नतीजा बहुत जबर्दस्‍त आने वाला है. मुझे तो लगता था कि बीजेपी थोड़ा मजबूती से चुनाव लड़ेगी, लेकिन उनके रुख पर थोड़ा आश्‍चर्य हुआ. 

मणिशंकर अय्यर का मसला
मणिशंकर अय्यर की पीएम मोदी पर टिप्‍पणी के बारे में बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा कि मैंने पहले ही स्‍पष्‍ट कर दिया है कि मैं ऐसी चीजें नहीं बर्दाश्‍त नहीं करूंगा. मोदी जी आखिर देश के प्रधानमंत्री हैं. हालांकि मोदी जी ने जो डॉ मनमोहन सिंह के बारे में बोला, वह भी स्‍वीकार्य नहीं है. मंगलवार को पीएम मोदी की सी-प्‍लेन से उड़ान पर राहुल गांधी ने कहा, ”मोदी जी अगर सी-प्‍लेन में उड़ना चाहते हैं तो कुछ गलत नहीं, अच्‍छी बात नहीं लेकिन ये ध्‍यान भटकाने की कोशिश है. असली सवाल है कि 22 साल में जनता के लिए क्‍या किया?”

Hindi News

पीएम मोदी पर ‘मशरूम अटैक’ कर बुरे फंसे अल्पेश, ताइवानी महिला ने दिया करारा जवाब

अल्पेश के बयान पर ताइवान की एक महिला ने पलटवार किया है. सोशल मीडिया पर अपलोड किया गया 27 सेकंड का वह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है. बीजेपी के प्रवक्ता तेजिंदर सिंह बग्गा ने भी वह वीडियो अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर कर रखा है.

पीएम मोदी पर 'मशरूम अटैक' कर बुरे फंसे अल्पेश, ताइवानी महिला ने दिया करारा जवाब

अल्पेश ने पीएम मोदी पर किया निजी हमला, ताइवान की एक महिला ने किया पलटवार

Hindi News

कोयला घोटाला: झारखंड के पूर्व CM मधु कोड़ा के खिलाफ अदालत सुनाएगी फैसला

नई दिल्‍ली: झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा, पूर्व कोयला सचिव एचसी गुप्ता समेत अन्य के खिलाफ दर्ज कोयला घोटाले के एक मामले में एक विशेष अदालत अपना फैसला 13 दिसंबर को सुनाएगी. सीबीआई की विशेष अदालत के न्यायाधीश भरत पराशर ने सभी आरोपियों को फैसला सुनाए जाने की तारीख पर अदालत में मौजूद रहने का आदेश दिया है. यह मामला झारखंड में राजहरा नॉर्थ कोयला ब्लॉक को कोलकाता की विनी आयरन एंड स्टील उद्योग लि(वीआईएसयूएल) को आवंटित करने में कथित अनियमिताओं से संबंधित है. 

कोड़ा, गुप्ता और कंपनी के अलावा, मामले में अन्य आरोपी झारखंड के पूर्व मुख्य सचिव एके बसु, दो लोक सेवक– बसंत कुमार भट्टाचार्य, बिपिन बिहारी सिंह, वीआईएसयूएल के निदेशक वैभव तुलस्यान, कोड़ा के कथित करीबी सहयोगी विजय जोशी और चार्टर्ड अकाउंटेंट नवीन कुमार तुलस्यान शामिल हैं. 

आठ आरोपी उनके खिलाफ जारी समन के बाद अदालत में पेश हुए थे. इसके बाद अदालत ने उन्हें जमानत दे दी थी. अदालत ने भारतीय दंड संहिता की धारा 120 बी(आपराधिक साजिश), 420 (धोखाधड़ी), 409 (सरकारी कर्मियों द्वारा आपराधिक विश्वासघात) और भ्रष्टाचार की रोकथाम अधिनियम के प्रावधानों के तहत दर्ज मामले का संज्ञान लिया था और इसके बाद उन्हें आरोपी के तौर समन किया गया था. 

जिरह के दौरान सीबीआई ने कहा था कि कंपनी ने आठ जनवरी 2007 को राजहरा नॉर्थ कोयला ब्लॉक के आवंटन के लिए आवेदन किया था. सीबीआई ने आरोप लगाया कि झारखंड सरकार और इस्पात मंत्रालय ने वीआईएसयूएल को कोयला खंड आवंटन करने की अनुशंसा नहीं की बल्कि 36वीं अनुवीक्षण समिति (स्क्रींनिग कमेटी) ने आरोपित कंपनी को खंड आवंटित करने की सिफारिश की थी. 

सीबीआई ने कहा कि अनुवीक्षण समिति के अध्यक्ष गुप्ता ने कोयला मंत्रालय का प्रभार भी देख रहे तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से कथित तौर पर इन तथ्यों को छुपाया कि झारखंड सरकार ने वीआईएसयूएल को कोयला ब्लॉक आवंटन करने की सिफारिश नहीं की थी. एजेंसी ने कहा कि कोड़ा, बसु और दो आरोपी लोकसेवकों ने वीआईएसयूएल को कोयला ब्लॉक आवंटित करने के पक्ष में साजिश रची. आरोपियों ने खुद पर लगे आरोपों को खारिज कर दिया है.

(इनपुट: भाषा)

Hindi News

ZEE जानकारी : अफगानिस्तान की 20 महिला सैनिकों को भारत में दी जा रही है ट्रेनिंग

आपको चेन्नई लेकर चलते हैं. चेन्नई में इन दिनों कुछ ख़ास मेहमान आए हुए हैं. और आज इन मेहमानों से आपकी एक छोटी सी मुलाकात तो बनती है. ये हमारी बदकिस्मती है, कि हमें चीन और पाकिस्तान जैसे पड़ोसी मिले हुए हैं. क्योंकि, ये दोनों ही देश भारत की क़ामयाबी से जलते हैं. लेकिन हमारे पड़ोस में एक देश ऐसा भी है, जो हर स्थिति में हमारे साथ खड़ा रहता है और इस देश का नाम है अफगानिस्तान. भारत की ही तरह अफगानिस्तान भी आतंकवाद से पीड़ित रहा है. और दुख की बात ये है, कि अफगानिस्तान में भी आतंकवाद की Supply पाकिस्तान के रास्ते से ही होती है. ये एक ऐसा विषय है, जिसने भारत और अफगानिस्तान दोनों को एक दूसरे के क़रीब लाने का काम किया है. और दोनों ही देश आतंकवाद वाले कैंसर के खिलाफ एक साथ लड़ने के लिए प्रतिबद्ध हैं. 

इन दिनों चेन्नई की Officers Training Academy में अफगानिस्तान की 20 महिला सैनिकों को ज़बरदस्त सैन्य Training दी जा रही है. ये सभी महिलाएं 21 दिनों के Military Training Programme के लिए भारत आई हुई हैं. और 4 दिसम्बर से ही अफगानिस्तान की इन महिला सैनिकों को युद्ध की हर कला के बारे में विस्तार से जानकारी दी जा रही है. इन सभी महिलाओं को अफगानिस्तान के अलग-अलग प्रांतों से चुना गया है. जिनमें Lieutenant और Major से लेकर Lieutenant Colonel, रैंक तक की अधिकारी शामिल हैं. इनमें से कई महिलाएं वहां की Special Forces में भी Serve करती हैं. और सबसे बड़ी बात ये है, कि इन सभी अफगानी महिलाओं को तालिबानी आतंकवादियों और ISIS के ख़िलाफ युद्ध का अनुभव भी हासिल है. 

आपको ये जानकर भी अच्छा लगेगा…कि अफगानिस्तान की महिला सैनिकों को पहली बार भारतीय सेना द्वारा Train किया जा रहा है. इससे आप दोनों देशों के रिश्तों की मज़बूती का अंदाज़ा भी लगा सकते हैं. कल ही Afghan National Army के Chief of General Staff, Lieutenant General Mohammad Sharif को दिल्ली में Guard of Honour भी दिया गया था. इसके बाद उन्होंने, भारत के सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत से भी मुलाकात की. और दोनों के बीच क्षेत्रीय सुरक्षा के अलावा, भारत और अफगानिस्तान की सेना के बीच सहयोग बढ़ाने पर भी चर्चा हुई.

Zee News की टीम ने सीधे चेन्नई की Officers Training Academy में जाकर.. अफगानिस्तान की महिला सैनिकों के साथ एक Special Ground Report तैयार की है. ये रिपोर्ट हम आपको दिखाएंगे लेकिन उससे पहले आपको कुछ बातें पता होनी चाहिए. क्योंकि, जिस देश में लड़कियों के स्कूलों को बम से उड़ा दिया जाता है, वहां की महिलाओं का.. सेना की वर्दी पहनना.. और हाथों में बंदूक उठाना बहुत बड़ी बात है. अफगानिस्तान में ऐसा ही हो रहा है.

अफगानिस्तान की सरकार वहां की सेना में महिलाओं की भागीदारी को 10 फीसदी करने की दिशा में काम कर रही है. फिलहाल वहां की सेना में महिलाओं की भागीदारी 1 फीसदी से थोड़ी ज़्यादा है. वहां सिर्फ साढ़े चार हज़ार महिला सैनिक हैं. अफगानिस्तान में सेना के पुनर्गठन के बाद महिलाओं का पहला Batch, वहां की Army Officer Academy से वर्ष 2015 में निकला था.  आमतौर पर उन्हें अफगान ऑफिसर ही Training देते हैं, लेकिन कई मौकों पर British Army के Officers भी उनकी मदद करते हैं. Training के तरीके भले ही एक जैसे हों, लेकिन अफगानिस्तान में महिलाओं और पुरुषों को एक साथ Train नहीं किया जाता. 

United Nations के मुताबिक अफगानिस्तान में महिला होना, दुनिया की सबसे मुश्किल चुनौती है. जब हमने इस पर Research किया, तो हमें कुछ चौंकाने वाली जानकारियां भी मिलीं. कुछ दिन पहले ही The New York Times ने अफगानिस्तान की एक महिला सैनिक का Interview लिया था, जो 20 साल की थी. इस लड़की ने Interview के दौरान ये कहा था, कि उसका नाम सार्वजनिक ना किया जाए. क्योंकि, अगर उसके पड़ोसियों को ये बात पता चली, तो वो उसकी हत्या कर देंगे.

तालिबानी आतंकवादियों के आत्मघाती हमलों और अमेरिकी सैनिकों की कार्रवाई की खबरें तो अफगानिस्तान से लगभग हर रोज़ आती हैं. लेकिन, आतंकवादियों द्वारा महिलाओं पर हो रहे अत्याचारों के बारे में ज्यादा कुछ सामने नहीं आ पाता. इसलिए, आज आपको ये देखना चाहिए, कि अफगानिस्तान की महिला सैनिक…किस तरह भारतीय सेना का हाथ पकड़कर …आतंक के सर्वनाश की Script लिख रही हैं.

Hindi News