Monthly Archives: December 2017

RS की सीटों को लेकर असमंजस में ‘AAP’, केजरीवाल-सिसोदिया नए साल की छुट्टी पर

 दिल्ली से राज्यसभा की रिक्त हो रही तीन सीटों पर चुनाव के लिए गत 29 दिसंबर को अधिसूचना जारी होने के साथ ही चुनावी प्रक्रिया तो शुरू हो गई है. 

RS की सीटों को लेकर असमंजस में ‘AAP’, केजरीवाल-सिसोदिया नए साल की छुट्टी पर

तीनों सीटों की प्रबल दावेदार आप में अब तक उम्मीदवारों के नाम पर असमंजस बरकरार है….(फाइल फोटो)

Hindi News

पुलवामा अटैक: फिदायीन हमलावर निकला जम्मू कश्मीर पुलिस के कांस्टेबल का बेटा

जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा जिले में रविवार को सीआरपीएफ के एक प्रशिक्षण केंद्र पर हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के चार जवान शहीद हो गए और दो आतंकवादी मारे गए. 

पुलवामा अटैक: फिदायीन हमलावर निकला जम्मू कश्मीर पुलिस के कांस्टेबल का बेटा

पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों को राजकीय सम्मान के साथ ले जाया गया. तस्वीर साभार: PTI

Hindi News

अगर आपने ले रखी है अटल पेंशन योजना तो आपके लिए है ये जरूरी खबर

पूंजी बाजार नियामक ने अटल पेंशन योजना सेवा प्रदाताओं से अंशधारकों के आधार को उनके खाते से जोड़ने के बारे में मंजूरी लेने के लिये संशोधित फॉर्म का उपयोग करने को कहा है.

अगर आपने ले रखी है अटल पेंशन योजना तो आपके लिए है ये जरूरी खबर

अटल पेंशन योजना सभी बैंक खाता धारकों के लिए है….(फाइल फोटो)

Hindi News

जानें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कहां पर मनाएंगे नए साल का जश्न

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी मां सोनिया गांधी के साथ नए साल का जश्न मनाने के लिए गोवा पहुंच गए हैं.
Hindi News

दिल्लीः घर में मिली पति-पत्नी और बेटे की लाश, सुसाइड नोट भी मिला

नई दिल्लीः बाहरी दिल्ली के छावला इलाके में एक घर में 3 शव मिलने से हड़कंप मच गया. इस घर में पति-पत्नी और एक बच्चे का शव मिला है. जबकि उसी कमरे में इसी परिवार की बेटी बेहोशी के हालत में मिली है. पति की लाश पंखे से लटकी मिली जबकि पत्नी और बेटे की लाश बेड पर पड़ी थी.

यह भी पढ़ेंः दिल्ली के द्वारका में 19 वर्षीय युवती के साथ गैंगरेप, दो गिरफ्तार

बेटे की उम्र करीब 8 साल बताई जा रही है जबकि बेटी की उम्र 12 साल की है.  पुलिस को शवों के पास से सुसाइड नोट भी मिला है जिसमें पारिवारिक कलह की बात लिखी है. बेहोश मिली लड़की को इलाज के लिए  अस्पताल पहुंचाया गया है. 

Hindi News

कोहरे से यातायात व्यवस्था चरमराई, दिल्ली से फिलहाल सभी उड़ानें रोकी गईं

नई दिल्ली : वर्ष 2017 के आखिरी दिन दिल्ली और आसपास के इलाकों में छाए घने कोहरे के कारण यातायात व्यवस्था बुरी तरह चरमरा गई. रविवार सुबह दिल्ली-एनसीआर में इस कदर घना कोहरा छाया हुआ था कि कई जगहों पर विजिबिलिटी जीरो नजर आई. घने कोहरे का असर सड़क के साथ-साथ हवाई और रेल यातायात पर भी पड़ा है. दिल्ली से सभी उड़ानों को रद्द करते हुए स्टैंडबाय पर कर दिया गया है. 10 उड़ानों के रूट बदले गए हैं. रेल यातायात की बात करें तो अधिकांश रेलगाड़ियां अपने तय समय से 10-10 घंटे तक की देरी से चल रही हैं. हवाईअड्डे के अधिकारियों के मुताबिक, विमानों के उड़ान भरने व उतरने दोनों को ही रविवार सुबह 7.30 बजे से रोक दिया गया . अनाधिकारिक सूचना के मुताबिक, हवाईअड्डे से 10 उड़ानों के मार्ग में परिवर्तन किया गया है.

दिल्ली और आसपास के इलाकों में अंधेरा छटते ही धुंध इतनी बढ़ गई कि सड़कों पर वाहन रेंगते दिखाई दिए.राजधानी दिल्ली में यमुना के आसपास के सारे इलाके में घने कोहरे और धुंध की वजह से विजिबिलिटी शून्य पर पहुंच गई. आने वाले 4-5 दिनों में मौसम में कोई विशेष बदलाव की संभावना नहीं है.

वाहनों को अपनी लाइटें और इंडिकेटर ऑन करके ड्राइविंग करनी पड़ी. आईएसबीटी कश्मीरी गेट, यमुना पुश्ता, लक्ष्मी नगर, अक्षरधाम और नोएडा तक के सारे रास्ते धुंध के चलते वाहनों की गति 20 से 30 किलीमीटर प्रतिघंटे की रही. हालांकि रविवार होने की वजह से सुबह सड़कों पर आम दिन की तरह ट्रैफिक नहीं था. वरना हालत स्थिति ज्यादा खराब हो सकती है.

साल 2017 की आखिरी सुबह दिल्ली-एनसीआर ने ओढ़ी कोहरे की चादर, थमी रफ्तार

रविवार को तापमान में भी काफी गिरावट दर्ज की गई. दिल्ली का न्यूनतम तापमान 6 डिग्री और अधिकतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. मौसम विभाग में आने वाले दिनों में तामपान में और गिरावट होने की बात कही है तथा कोहरा भी लगातार इसी तरह अपना असर दिखाता रहेगा. दिल्ली के साथ-साथ पूरे नार्थ भारत में सर्दी का प्रकोप जारी है. कई जगहों से कोहरे के कारण सड़क दुर्घटनाओं की खबरें मिली हैं. दिल्‍ली, एनसीआर, हरियाणा, पंजाब समेत पूरे उत्‍तर भारत में गुरुवार को घना कोहरा छाया हुआ है. पूरा उत्‍तर भारत कोहरे और ठंड की चपेट में है, जिसके चलते जनजीवन खासा प्रभावित हुआ है. 

Hindi News

दक्षिण के सुपरस्टार रजनीकांत ने किया राजनीति में आने का फैसला, लड़ेंगे विधानसभा चुनाव

रजनीकांत के राजनीतिक सफर को लेकर लंबे समय से चल रहा अटकलों का दौर आज रविवार का समाप्त हो गया. चेन्नई स्थित श्रीराघवेंद्र कल्याण मंडप में रजनीकांत ने अपने प्रशंसकों के बीच राजनीतिक पारी शुरू करने की घोषणा की.
Hindi News

नितिन पटेल के समर्थन में पाटीदार नेताओं ने की मेहसाना बंद की घोषणा

 सरदार पटेल समूह के संयोजक लालजी पटेल ने उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल से गांधीनगर के सरकारी आवास पर मुलाकात की.

नितिन पटेल के समर्थन में पाटीदार नेताओं ने की मेहसाना बंद की घोषणा

उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि अब यह उनके आत्मसम्मान का मुद्दा है.

Hindi News

जो कौम अपने इतिहास की रक्षा नहीं कर सकती, वह भूगोल की भी रक्षा नहीं कर सकती: योगी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को कहा कि जो कौम अपने इतिहास की रक्षा नहीं कर सकती, वह अपने भूगोल की भी रक्षा नहीं कर सकती है. योगी ने लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक पर आधारित एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘जो कौम अपने इतिहास की रक्षा नहीं कर सकती है वह अपने भूगोल की भी रक्षा नहीं कर सकती है. तिलक जी ने भारत की आजादी के लिए प्रखरता से काम किया.’’ इस मौके पर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने कहा कि लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक ने लगभग 101 वर्ष पूर्व लखनऊ में ‘‘स्वराज्य मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर रहूंगा’’ का नारा देकर देश में एक नई ऊर्जा भरते हुए स्वतंत्रता के आन्दोलन को एक नई दिशा दी थी.

नाईक ने कहा, ‘‘यह वाक्य ‘सिंह की गर्जना’ के समान था. इस विचार ने पूरे देश को अपनी स्वतंत्रता के लिए अंग्रेजों के खिलाफ एकजुट किया. सन 1857 के स्वतंत्रता संग्राम में मिली असफलता के कारण देश में निराशा छा गई थी. उस निराशा से उबारने में लोकमान्य तिलक के इस उद्घोष ने महत्वपूर्ण काम किया.’’ राज्यपाल ने यह विचार यहां लोक भवन में लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक के अमर उद्घोष के 101 वर्ष पूर्ण होने पर आयोजित ‘‘स्मृति समारोह’’ को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए. उन्होंने कहा कि लोकमान्य तिलक ने समाज को एकजुट करने के लिए ‘‘गणपति उत्सव’’ और ‘‘शिवाजी उत्सव’’ को सार्वजनिक समारोह बनाया. इन प्रयासों ने समाज में जागरूकता लाने का काम किया. तिलक जी के प्रयासों के चलते आज देश स्वतंत्र है.

इस अवसर पर उन्होंने उत्तर प्रदेश तथा महाराष्ट्र के बीच हुए सांस्कृतिक सम्बन्धों हेतु हुए समझौता-पत्र (एमओयू) का उल्लेख करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र के बीच बहुत पुराने सम्बन्ध हैं. भगवान राम ने अपने वनवास के दौरान महाराष्ट्र के पंचवटी में निवास किया था. इसी प्रकार छत्रपति शिवाजी महाराज का राज्याभिषेक काशी के ब्राह्ममणों ने किया था. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की प्रगति उत्तर प्रदेश के लोगों का महत्वपूर्ण योगदान है. योगी ने कहा कि लोकमान्य तिलक का यह उद्घोष ‘‘स्वराज्य मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर रहूंगा’’ भारत की आजादी के परिपे्रक्ष्य में अत्यन्त महत्वपूर्ण है और हम सबके लिए प्रेरणादायी है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी ने हमें बहुत कुछ दिया है. आज हम विश्व के सबसे बड़े स्वतंत्र और लोकतांत्रिक देश हैं. स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का स्मरण करते हुए उन्होंने कहा कि महापुरुषों ने स्वतंत्र भारत का जो सपना देखा था, उसमें जातिवाद, क्षेत्रवाद, अशिक्षा इत्यादि का कोई स्थान नहीं था. उन्होंने कहा कि स्वराज्य का तात्पर्य ऐसे राज्य से है जहां पर निर्णय लेने का अधिकार हो. परन्तु निर्णय संविधान के दायरे में ही रहकर लिए जाने चाहिए.

इस अवसर पर योगी ने कार्यक्रम में भाग लेने आये महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस, लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक की प्रपौत्र, वधू और पुणे की मेयर श्रीमती मुक्ता तिलक, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, उनके परिजनों का हार्दिक अभिनन्दन करते हुए कहा कि आज का यह कार्यक्रम स्वतंत्रता आन्दोलन को प्रखर नेतृत्व प्रदान करने वाले लोकमान्य तिलक के उद्घोष के 101 वर्ष पूर्ण होने पर आयोजित किया गया है, जिससे इसे एक नया आयाम मिला है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के लिए एक नई योजना लागू करेगी.

Hindi News

सामने आई नितिन पटेल की प्रतिक्रिया – कुछ विभागों की बात नहीं है, आत्मसम्मान का मामला है

अहमदाबाद: गुजरात में नई सरकार में विभागों के आवंटन के बाद से नाराज चल रहे उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि अब यह उनके आत्मसम्मान का मुद्दा है. पाटीदार नेता हार्दिक पटेल और लालजी पटेल ने पटेल को समर्थन देने की घोषणा की है. लालजी पटेल ने एक जनवरी को मेहसाणा में बंद की घोषणा की साथ ही पटेल को मुख्यमंत्री बनाए जाने की मांग की है. पटेल ने आवंटित विभागों का जिम्मा नहीं संभाला है और उन्हें भाजपा हाईकमान से इस पर उचित प्रतिक्रिया की उम्मीद है. उन्होंने कहा, ‘‘मैंने पार्टी हाईकमान को अपनी भावनाओं से अवगत करा दिया है और मुझे उम्मीद है कि वे मेरी भावनाओं पर उचित प्रतिक्रिया देंगे.’’ उपमुख्यमंत्री ने कहा यह कुछ विभागों की बात नहीं है, यह आत्मसम्मान की बात है. राज्य की पिछली सरकार में पटेल के पास वित्त और शहरी विकास जैसे महत्वपूर्ण विभाग थे लेकिन इस बार उन्हें सड़क एवं भवन और स्वास्थ्य जैसे विभाग आवंटित किये गये है.

गुजरात में भाजपा सरकार के गठन के बाद गत 28 दिसम्बर को विभागों के बंटवारे में पटेल को इन दो विभागों के अलावा चिकित्सा शिक्षा, नर्मदा, कल्पसार और राजधानी परियोजना का प्रभार भी दिया गया है. प्रभावशाली पाटीदार समुदाय से आने वाले उपमुख्यमंत्री ने अब तक इन विभागों का प्रभार नहीं संभाला है. पटेल के समर्थक उनके प्रति एकजुटता दिखाने के लिये आज उनके आवास पर जुटे. इस बार वित्त विभाग सौरभ पटेल को आवंटित किया गया है जबकि गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने शहरी विकास विभाग खुद के पास ही रखा है.

नरेन्द्र मोदी की अगुवाई वाली गुजरात सरकार में मंत्री रह चुके नरोत्तम पटेल ने पूरे विवाद पर कहा कि पटेल को उनके कद के हिसाब से विभाग दिया जाना चाहिए था. उन्होंने कहा, ‘‘नितिन भाई साधारण मंत्री नहीं हैं.’’ इससे पहले दिन में पटेल की पार्टी के साथ ‘‘नाखुशी’’ के बारे में किये गये सवाल पर रूपाणी ने कोई जवाब नहीं दिया था. गुरुवार को विभागों के बंटवारे के बाद नितिन पटेल मीडिया ब्रीफिंग में कुछ नहीं बोले थे और जल्दी चले गये थे. उस समय रूपाणी ने कहा था, ‘‘यह सच नहीं है कि वित्त विभाग संभालने वाले मंत्री कैबिनेट में नम्बर दो है. नितिन पटेल हमारे वरिष्ठ नेता है और वह नम्बर दो बने रहेंगे.’’ पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल ने नितिन को समर्थन देने की घोषणा की है. उन्होंने कहा, “एक दिग्गज नेता की तरह, नितिन भाई (पटेल) ने भाजपा को सत्ता में रखने के लिए 27 साल तक कड़ी मेहनत की है. समुदाय के सदस्यों को यह समझने की जरूरत है कि ऐसे नेताओं को हाशिए पर रखा जा रहा है.

नाराज नितिन पटेल से मिलने पहुंचे नरोत्तम पटेल, बोले- पार्टी उन्हें मनचाहा विभाग देने पर विचार करे

 

पाटीदार नेता ने कहा कि अगर उप-मुख्यमंत्री भाजपा छोड़ने के लिए तैयार हैं और 10 अन्य विधायक उनके साथ छोड़ने को तैयार हैं तो ‘‘हम कांग्रेस को नितिन भाई को लेने और जिस पद के वह हकदार हैं उन्हें वह देने को कहेंगे.’’ वहीं सौराष्ट्र के अमरेली जिले के लाठी विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए विरजी थुम्मर ने कहा कि यदि वह निर्धारित संख्या में भाजपा के विधायकों के साथ आते हैं तो पटेल को कांग्रेस से सहयोग से मुख्यमंत्री बनाया जाएगा .

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘उन्होंने नितिनभाई पटेल से सारे अच्छे विभाग ले लिए हैं. उनके प्रभार दूसरों को सौंप दिए गए हैं. मैं नितिनभाई से उन्हें समर्थन देने वाले 10-15 विधायकों के साथ आने का अनुरोध करता हूं और हम (कांग्रेस) उन्हें बाहर से समर्थन देंगे.’’ थुम्मर ने कहा , ‘‘गुजरात के विकास और किसानों के लाभ के लिए हमें एक साथ काम करना चाहिए. मैं उन्हें एक मित्र के रूप में बताना चाहता हूं कि भाजपा उनका गलत इस्तेमाल कर रही है.’’ हालांकि कांग्रेस ने कहा कि थुम्मर का बयान व्यक्तिगत था . उसने गुजरात की नयी सरकार के भीतर चल रहे राजनीतिक ड्रामे को भाजपा का ‘‘अंदरूनी मसला’’ बताया.

पाटीदार आरक्षण आंदोलन में आगे रहे सरदार पटेल ग्रुप के नेता लालजी ने हार्दिक के साथ गांधीनगर में नितिन से मुलाकात की और घटना के विरोध में मेहसाणा में बंद की घोषणा की है.

Hindi News