कोहरे से यातायात व्यवस्था चरमराई, दिल्ली से फिलहाल सभी उड़ानें रोकी गईं

नई दिल्ली : वर्ष 2017 के आखिरी दिन दिल्ली और आसपास के इलाकों में छाए घने कोहरे के कारण यातायात व्यवस्था बुरी तरह चरमरा गई. रविवार सुबह दिल्ली-एनसीआर में इस कदर घना कोहरा छाया हुआ था कि कई जगहों पर विजिबिलिटी जीरो नजर आई. घने कोहरे का असर सड़क के साथ-साथ हवाई और रेल यातायात पर भी पड़ा है. दिल्ली से सभी उड़ानों को रद्द करते हुए स्टैंडबाय पर कर दिया गया है. 10 उड़ानों के रूट बदले गए हैं. रेल यातायात की बात करें तो अधिकांश रेलगाड़ियां अपने तय समय से 10-10 घंटे तक की देरी से चल रही हैं. हवाईअड्डे के अधिकारियों के मुताबिक, विमानों के उड़ान भरने व उतरने दोनों को ही रविवार सुबह 7.30 बजे से रोक दिया गया . अनाधिकारिक सूचना के मुताबिक, हवाईअड्डे से 10 उड़ानों के मार्ग में परिवर्तन किया गया है.

दिल्ली और आसपास के इलाकों में अंधेरा छटते ही धुंध इतनी बढ़ गई कि सड़कों पर वाहन रेंगते दिखाई दिए.राजधानी दिल्ली में यमुना के आसपास के सारे इलाके में घने कोहरे और धुंध की वजह से विजिबिलिटी शून्य पर पहुंच गई. आने वाले 4-5 दिनों में मौसम में कोई विशेष बदलाव की संभावना नहीं है.

वाहनों को अपनी लाइटें और इंडिकेटर ऑन करके ड्राइविंग करनी पड़ी. आईएसबीटी कश्मीरी गेट, यमुना पुश्ता, लक्ष्मी नगर, अक्षरधाम और नोएडा तक के सारे रास्ते धुंध के चलते वाहनों की गति 20 से 30 किलीमीटर प्रतिघंटे की रही. हालांकि रविवार होने की वजह से सुबह सड़कों पर आम दिन की तरह ट्रैफिक नहीं था. वरना हालत स्थिति ज्यादा खराब हो सकती है.

साल 2017 की आखिरी सुबह दिल्ली-एनसीआर ने ओढ़ी कोहरे की चादर, थमी रफ्तार

रविवार को तापमान में भी काफी गिरावट दर्ज की गई. दिल्ली का न्यूनतम तापमान 6 डिग्री और अधिकतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. मौसम विभाग में आने वाले दिनों में तामपान में और गिरावट होने की बात कही है तथा कोहरा भी लगातार इसी तरह अपना असर दिखाता रहेगा. दिल्ली के साथ-साथ पूरे नार्थ भारत में सर्दी का प्रकोप जारी है. कई जगहों से कोहरे के कारण सड़क दुर्घटनाओं की खबरें मिली हैं. दिल्‍ली, एनसीआर, हरियाणा, पंजाब समेत पूरे उत्‍तर भारत में गुरुवार को घना कोहरा छाया हुआ है. पूरा उत्‍तर भारत कोहरे और ठंड की चपेट में है, जिसके चलते जनजीवन खासा प्रभावित हुआ है. 

Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *