जनरल बिपिन रावत के बयान पर बौखलाया पाकिस्तान, परमाणु हमले की दी धमकी

नई दिल्ली: भारत के सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत के बयान पर पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ ने शनिवार को पलटवार करते हुए परमाणु हमले की धमकी दी है. विदेश मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ ने ट्वीट कर कहा, ‘भारतीय सेना प्रमुख का बयान बेहद गैर जिम्मेदाराना है, ये परमाणु हमले को निमंत्रण देने वाली बात है. अगर वे (भारत) ऐसा चाहते हैं तो हम भी इसके लिए तैयार हैं. इंशाअल्लाह… जल्द ही सेना प्रमुख की गलतफहमी दूर हो जाएगी.’

भारत के सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत के बयान के बाद पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ. मोहम्मद फैसल ने भी ट्वीट कर कहा है, ‘हम इस मामले को हल्के में नहीं लेंगे. वे पाकिस्तान को लेकर गलत आंकलन न करें. भारतीय सेना की ओर से धमकी और गैर जिम्मेदाराना बयान ये साबित करता है कि वे डरे हुए हैं. पाकिस्तान अपनी रक्षा करने में सक्षम है.’

इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ गफूर ने जनरल रावत के बयान पर जियो टीवी से बातचीत में कहा, ‘इस तरह का बयान उनके कद के लोगों के लिए शोभनीय नहीं है.’ उन्होंने कहा, ‘मेरा मानना है कि चार स्टार पा चुके अनुभवी सेना प्रमुख को बयान देने में परिपक्वता दिखानी चाहिए.’

Khawaja Muhammad Asif

क्या कहा था बिपिन रावत ने?
भारत के सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने 12 जनवरी को कहा था कि अगर सरकार कहे तो सेना पाकिस्तान के परमाणु झांसों को धता बताने और किसी भी अभियान के लिए सीमापार करने को तैयार है. 

जनरल रावत ने कहा कि हम पाकिस्तान की परमाणु हथियारों की बातों को चुनौती देंगे. उन्होंने कहा, ‘अगर हमें वाकई पाकिस्तानियों का सामना करना पड़ा और हमें ऐसा काम दिया गया तो हम यह नहीं कहेंगे कि हम सीमा पार नहीं कर सकते क्योंकि उनके पास परमाणु हथियार हैं. हमें उनकी परमाणु हथियारों की बातों को धता बताना होगा.’ 

ये भी पढ़ें:  जनरल बिपिन रावत ने पूछा, J&K और भारत के अलग-अलग नक्शे दिखाने से बच्चों को क्या तालीम मिल रही है?

सेना प्रमुख ने कहा, ‘हम प्रस्ताव के विभिन्न आयामों का अध्ययन रहे हैं.’ उनसे यहां एक संवाददाता सम्मेलन में सीमा पर हालात बिगड़ने की स्थिति में पाकिस्तान द्वारा उसके परमाणु हथियारों के इस्तेमाल की संभावना पर सवाल पूछा गया था.

‘पाकिस्तान को दे रहे करारा जवाब’
सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा कि सैन्य बल पाकिस्तान के संघर्षविराम उल्लंघनों का करारा जवाब दे रहे हैं और लक्ष्य पाकिस्तान को आतंकी समूहों के समर्थन के दुष्परिणाम महसूस कराना है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में आतंकवादी ‘इस्तेमाल कर फेंकने लायक सामान’ हैं और भारतीय सेना गोलीबारी की आड़ में आतंकियों की भारत में घुसपैठ कराने वाली पाकिस्तानी सेना की चौकियों को दंडित करने पर ध्यान दे रही है.

डोकलाम में सैनिकों की कमी पर चीन की चुप्पी, जनरल बिपिन रावत ने दिया था बयान
भारत के सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत

‘पाकिस्तानी चौकियों को तबाह करते रहेंगे’
जनरल रावत ने कहा, ‘हमारा रुख पाकिस्तानी सेना को दुष्परिणाम महसूस कराना है.’ उन्होंने कहा, ‘जब तक पाकिस्तान दुष्परिणाम महसूस नहीं करता, वह आतंकियों को भेजता रहेगा जो उनके लिए उपयोग कर फेंकने लायक सामान हैं. हम आतंकियों की भारत में घुसपैठ कराने वाली पाकिस्तानी चौकियों को तबाह करते रहेंगे. जवाबी गोलीबारी में पाकिस्तान को तीन-चार गुना ज्यादा नुकसान हुआ है.’ 

ये भी पढ़ें:  आर्मी चीफ ने कहा, कश्मीर में आतंकियों के खिलाफ जारी रहेगा ऑपरेशन

‘पाकिस्तान के परमाणु हथियारों को देंगे चुनौती’
सेना प्रमुख ने कहा कि सेना पाकिस्तान के परमाणु हथियारों के झांसे को चुनौती देगी. उन्होंने कहा, ‘हम इसे चुनौती देंगे. अगर हमें सच में पाकिस्तानियों से टकराना हो और हमें देश कोई काम दे तो हम यह नहीं कहेंगे कि उनके पास परमाणु हथियार होने के कारण हम सीमा पार नहीं कर सकते. हमें उनके परमाणु हथियारों के झांसे को चुनौती देनी होगी.’

Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *