रॉबर्ट वाड्रा की दिक्कतें बढ़ीं, सीबीआई ने वाड्रा से जुड़ी फर्म सहित अन्य कंपनियों के 18 भूमि सौदों की जांच शुरू की

नयी दिल्ली : केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने रॉबर्ट वाड्रा से जुड़ी एक कंपनी सहित अन्य कंपनियों द्वारा बीकानेर में भूमि सौदों में कथित अनियमितताओं के लिए राजस्थान सरकार द्वारा उसे भेजे गये 18 मामलों की जांच शुरू की.सीबीआई सूत्रों ने कहा कि एजेंसी ने इन भूमि सौदों के संबंध में 18 प्राथमिकी फिर से दर्ज की हैं. इससे पहले इनकी राजस्थान पुलिस ने जांच की थी.सीबीआई के एक प्रवक्ता ने यहां आज शाम मामले दर्ज होने के बाद कहा कि मामले सेना द्वारा प्रयुक्त महाजन फील्ड फायरिंग रेंज बीकानेर के लिए अधिग्रहीत भूमि के बदले धोखाधड़ी एवं फर्जी दावे और आवंटन से जुड़े हैं.

एजेंसी सूत्रों ने कहा कि एजेंसी द्वारा अगस्त से सितंबर 2014 के बीच दर्ज 18 प्राथमिकी में से 16 गजनेर थाने में दर्ज हुईं जबकि दो बीकानेर के कोलायत थाने में दर्ज हुईं.राजस्थान सरकार के आग्रह पर केन्द्र द्वारा सीबीआई को ये मामले भेजे गये.

राजस्थान सरकार ने सीबीआई को पत्र लिखा था
राजस्थान सरकार ने बीकानेर में कथित भूमि घोटालों की जांच के लिए सीबीआई को पत्र लिखा था. इन घोटालों में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा से जुड़ी एक कंपनी भी कथित रूप से शामिल है.कांग्रेस ने राज्य सरकार पर विधानसभा चुनावों से पहले सीबीआई का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया था.

और पढ़ें:रॉबर्ट वाड्रा पर लगे आरोपों को लेकर बोलीं सोनिया गांधी, ‘जांच कराकर देख ले सरकार, दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा’

राजस्थान के गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया ने 22 अगस्त को यह मामला सीबीआई को भेजने के बाद कहा था, ‘‘करीब 18 प्राथमिकी दर्ज हुई हैं. इनमें से चार वाड्रा की कंपनी के खिलाफ हैं जो कथित रूप से करीब 275 बीघा जमीन की अवैध खरीद से जुड़ी है. सभी 18 प्राथमिकी फर्जी नामों से करीब 1400 बीघा जमीन की खरीद से संबंधित हैं.’’उन्होंने आरोप लगाया था कि वाड्रा की कंपनी 2010 में 275 बीघा जमीन खरीदने के लिए तीसरा पक्ष थी और फिर इसने 2012 में एक चौथे पक्ष को इसे बेच दिया.

ये भी पढ़ें: रॉबर्ट वाड्रा की बढ़ी मुसीबत, बीकानेर लैंड डील मामले में ED ने फिर भेजा नोटिस

कटारिया ने कहा था कि जब मामला प्रकाश में आया तो 18 प्राथमिकी दर्ज हुईं थीं. चार वाड्रा की कंपनी से जुड़ी हैं और अब राज्य सरकार ने सीबीआई को पत्र लिखकर उनकी एक साथ जांच करने को कहा है. 2014 में राज्य विधानसभा में भी यह मुद्दा उठा था.

Hindi News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *